प्रोटोकॉल का पालन करने पर ही कोरोना की चेन टूटेगी गहलोत

(अजय शेखर सेदावत)

कोविड -19 टीकाकरण अभियान के राज्यस्तरीय शुभारम्भ कार्यक्रम में बोले गहलोत।
जयपुर— मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सभी वैज्ञानिकों को बधाई देते हुए कहा कि यह सभी वैज्ञानिकों की दिन रात मेहनत का फल है कि जिन्होंने इतने कम समय में वैक्सीन तैयार की है। हमें इसके लिए हमारे साइंटिस्ट्स पर, एक्सपर्ट्स पर गर्व होना चाहिए।
आप सबके आशीर्वाद से, प्रदेशवासियों के सहयोग से सरकार ने व्यवस्थाएं करने में, कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने में कोई कमी नहीं रखी।
हम कोरोना की जंग में पहले दिन से सभी को साथ लेकर चले। चाहे वो पॉलिटिकल पार्टीज हों, सोशल एक्टिविस्ट हों, धर्मगुरू, एनजीओ, कर्मचारी संगठन सभी को हम साथ लेकर चले।
कोविड के दौरान हमने मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर को लगातार मजबूत किया है। 8 जनवरी और कल यानी 15 जनवरी को राजस्थान में कोविड से कोई मौत नहीं हुई। ये सुखद संयोग है कि एक तरफ तो ज़ीरो मृत्युदर और दूसरी तरफ आज से वैक्सीन लगना शुरू हो रहा है।
लेकिन एक जरूरी बात जो अभी भी सबको याद रखनी है। हमारे देश की आबादी 130 करोड़ की है। जब तक सभी लोगों को वैक्सीन नहीं लग जाएगी तब तक कोरोना की चेन नहीं टूटेगी। इतनी आबादी को वैक्सीन लगने में एक साल से ज्यादा का समय लगेगा। इसलिए वैक्सीन लगना शुरू होने के बाद भी कोविड प्रोटोकॉल को फॉलो करते रहना है। सभी को मास्क लगाना है और सोशल डिस्टैंसिंग रखनी है।
मैं समझता हूं कि कोई वर्ग ऐसा अछूता नहीं था जिसने अपना कॉन्ट्रीब्यूशन नहीं दिया हो किसी न किसी रूप में और मैं उम्मीद करता हूं कि ऐसा ही माहौल जब तक कोरोना की जंग पूरी तरह लड़ी नहीं जाए और हम लोग कोरोना को पूरी तरह समाप्त नहीं कर दें, उस वक्त तक हमें सावचेत रहना ही पड़ेगा।