स्कूल में देरी से आए शिक्षक, एक घंटे बाद शुरू हो पाई परीक्षा, ग्रामीणों ने की शिकायत

आरती शर्मा 

शासकीय प्राथमिक विद्यालय मोतीपुरा में सुबह आठ बजे से छात्रों परीक्षा चल रही है। शुक्रवार को कक्षा एक से पांचवीं तक के छात्र अपने समय पर सुबह साढ़े सात बजे स्कूल में परीक्षा देने पहुंच गए थे, लेकिन स्कूल के मेन गेट पर ताला जड़ा हुआ था। छात्र परीक्षा के लिए स्कूल परिसर में खड़े होकर शिक्षकों का इंतजार करते रहे। बाद में एक घंटा देरी से सुबह 9 बजकर 8 मिनट पर स्टाफ स्कूल पहुंचा। ग्रामीणों ने इस मामले की शिकायत करते हुए डीईओ बीएस सिकरवार को ज्ञापन दिया है।

ग्रामीणों ने शिकायत में कहा साल भर स्कूल में शिक्षक मनमर्जी से बच्चों को पढ़ाने आए। बारह बजे स्कूल खोलकर दो बजे बंद कर दिया जाता था। अब परीक्षा में भी समय पर नहीं पहुंच रहे हैं। मामले की शिकायत करने पर जांच करने पहुंचे बीआरसीसी ने शिक्षकों का पक्ष लेकर बिना कार्रवाई के चले आए। गांव के सुधीर सिंह राजावत ने कहा सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों का भविष्य अंधकार में पहुंच रहा है। पढ़ाई के नाम पर महज खानापूर्ति करके शिक्षक चले जाते हैं। ऐसे में ग्रामीण अपने बच्चों को प्राइवेट स्कूलों में पढ़ाने के लिए मजबूर होंगे। गौरतलब है कि स्कूल में शिक्षिका चिंकी शर्मा और सरिता शैक्षणिक कार्य के लिए पदस्थ हैं। स्कूल में वार्षिक परीक्षाएं चल रही हैं। लेकिन परीक्षा में भी स्टाफ निर्धारित समय पर स्कूल नहीं पहुंच रहा है। इससे ग्रामीणों में आक्रोश बढ़ गया। ज्ञापन देने वालों में नीरू सिंह, छोटू सिंह, उपेंद्र सिंह, पुष्पेंद्र सिंह, संदीप तोमर, सौरभ सिंह, लाखन सिंह, बृजभान सिंह सहित आदि लोग मौजूद रहे।