8 पैसेंजर ट्रेनें अब 19 तक नहीं चलेगी, रोज 1 हजार यात्री परेशान, हाेली पर भी नहीं मिलेगी ट्रेन की सुविधा

निलाद्री राय 

नीमच -चित्तौड़गढ़के बीच रेल लाइन दोहरीकरण कार्य में चित्तौड़गढ़-शंभुपुरा के बीच पहले चरण का काम पूरा कर मई में ट्रेन का संचालन करना है। रेलवे द्वारा नॉन इंटरलॉकिंग कार्य के लिए 25 फरवरी से ब्लॉक लिया है। काम अधूरा होने से दो बार ब्लॉक की अवधि बढ़ा दी। चित्तौड़गढ़-मंदसौर के बीच 10 ट्रेनें निरस्त है। इसके कारण मंदसाैर, नीमच स्टेशन से राेज 1 हजार से अिधक यात्रियों को गंतव्य के लिए ट्रेन नहीं मिल रही। इससे अाैसतन 50-50 हजार का तथा चित्ताैड़गढ़ स्टेशन से 1 लाख रुपए से अधिक के राजस्व नुकसान का अनुमान है। जाे ट्रेनें वर्तमान में निरस्त है वे अब 19 मार्च तक नहीं चलेगी। हाेली पर काेटा, उदयपुर या चित्ताैड़गढ़ से अन्य ट्रेनाें की कनेक्टिविटी लेकर गंतव्य काे जाने वाले यात्रियाें काे परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

चित्ताैड़गढ़-शंभुपुरा के बीच नई रेल लाइन पर मई में ट्रेनों का संचालन करना है। 25 फरवरी से नॉन इंटरलॉकिंग कार्य चल रहा है। इस दौरान चित्तौड़गढ़, अाेरड़ी, शंभुपुरा में पाइंट जाेड़ने का काम चल रहा है। इस काम काे तेजी से पूरा करने के लिए रेलवे ने चित्ताैड़गढ़-मंदसाैर के बीच चलने वाली सभी पैसेंजर ट्रेनाें काे पहले 4 मार्च तक, फिर 14 व बाद में 17 मार्च तक निरस्त किया जाे अब 19 मार्च तक नहीं चलेगी। इसके कारण हाेली पर काेटा, उदयपुर की अाेर जाने वाले यात्रियाें काे परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

चित्तौड़गढ़-शंभुपुरा के बीच नए ट्रैक को ठीक करती मशीन।

25 फरवरी से रोज हो रहा रेलवे को 50 हजार का राजस्व घाटा

नॉन इंटरलॉकिंग कार्य के कारण पैसेंजर ट्रेनों का संचालन निरस्त है। इसके कारण रेलवे काे मंदसाैर, नीमच स्टेशन से राेज 50-50 हजार रुपए का राजस्व नुकसान हाे रहा है। जबकि रतलाम मंडल के चित्तौड़गढ़ स्टेशन से राेज एक लाख रुपए तक का राजस्व कम मिल रहा है।

मुंबई से रेलवे सुरक्षा आयुक्त 19 को आ सकते हैं निरीक्षण करने

चित्ताैड़गढ़-शंभुपुरा के बीच दाेहरीकरण के नए ट्रैक की जब तक सीअारएस द्वारा निरीक्षण करके अाेके रिपाेर्ट नहीं दी जाएगी तब तक इस पर इंजिन चलाना संभाव नहीं है। पूर्व में 16 मार्च काे सीअारएस के अाने की संभावना थी। लेकिन अाेरड़ी स्टेशन पर एक पाइंट का काम अधूरा है। एेसे में रेलवे अधिकारियाें काे उम्मीद है कि 19 मार्च तक मुंबई से रेलवे सुरक्षा आयुक्त यहां आकर निरीक्षण कर सकते हैं। इसके बाद नॉन इंटरलॉकिंग का ब्लॉक समाप्त हो जाएगा और ट्रेनों का संचालन फिर से शुरू होगा। 18 मार्च काे इलेक्ट्रिक विभाग की सीअारएस निरीक्षण काे अा सकते हैं। इसकी तैयारी पूरी हाे गई है।

शंभुपुरा में नई रेल लाइन के बाद से रेलवे कैबिन तोड़ती जेसीबी।

रतलाम-यमुनाब्रिज सहित ये ट्रेनें अभी निरस्त रहेगी

ट्रेन संख्या 59833 काेटा- मंदसाैर 18 मार्च तक, ट्रेन संख्या 59834 मंदसाैर-काेटा 19 मार्च तक, ट्रेन संख्या 59836 उदयपुर-मंदसाैर पैसेंजर तथा 59835 मंदसाैर-उदयपुर पैसेंजर 19 मार्च तक, ट्रेन संख्या 59812 यमुनाब्रिज-रतलाम पैसेंजर 18 मार्च तक काेटा-चित्ताैड़गढ़-रतलाम के बीच निरस्त रहेगी। ट्रेन संख्या 59811 रतलाम-अागरा फोर्ट 20 मार्च तक निरस्त रहेगी। ट्रेन संख्या 29019/20 मेरठ सिटी-मंदसाैर लिंक एक्सप्रेस 19 मार्च तक चित्ताैड़गढ़-मंदसाैर के बीच निरस्त रहेगी। जबकि ट्रेन संख्या 79301/02 रतलाम-भीलवाड़ा डेमू रतलाम-निंबाहेड़ा के बीच चलेगी। यह ट्रेन निंबाहेड़ा-भीलवाड़ा के बीच 19 मार्च तक निरस्त रहेगी। इसी तरह ट्रेन संख्या 79303/04 रतलाम-चित्ताैड़गढ़ 19 मार्च तक नीमच से ही वापस रतलाम जाएगी। यह ट्रेन नीमच-चित्ताैड़गढ़ के मध्य निरस्त रहेगी।