पद्मश्री से सम्मानित हुआ ये चायवाला, इनकी सादगी के PM मोदी भी हैं मुरीद

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन में पद्म भूषण, पद्म विभूषण और पद्मश्री पुरस्कार प्रदान किए। राष्ट्रपति ने 65 हस्तियों को पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया। पद्मश्री पाने वालों में एक ऐसे व्यक्ति का नाम भी शामिल है जिनके बारे में कम ही लोग जानते हैं।

ये हैं ओडिशा के कटक के रहने वाले डी प्रकाश राव। जो पिछले 67 सालों से चाय बेचने का काम कर रहे हैं। चाय बेचकर जो पैसा मिलता है, उसका बड़ा हिस्सा वह समाज सेवा में लगा देते हैं। यही नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनके काम से प्रभावित होकर खुद उनसे मिलने गए थे। उन्होंने 27 मई, 2018 को अपने कार्यक्रम मन की बात पर भी प्रकाश राव से तारीफ की थी।

पीएम ने कहा था कि पिछले 50 साल से चाय बेचने वाले प्रकाश राव अपनी आधी आमदनी 70 गरीब बच्चों की शिक्षा पर खर्च करते हैंं। वो हम सब के लिए एक प्रेरणास्त्रोत हैं। बता दें कि प्रकाश चाय बेचने के साथ-साथ स्कूल भी चलाते हैं। उनके स्कूल में झोपड़ियों में रहने वाले बच्चों पढ़ते हैं। इसके अलावा वह अस्पताल में मरीजों की भी मदद करते हैं। वह जरूरत पड़ने पड़ रक्तदान भी करते हैं।

राव का कहना है कि वे मैं नहीं चाहता हूं कि सिर्फ पैसों की कमी के कारण ये बच्चे पढ़ाई से वंचित रह जायें। इसलिए मैं चाय की दुकान और स्कूल से समय निकाल कर अस्पताल में भी मरीजों की मदद करने के लिए जाता हूं। मैंने अपने जीवन की शुरुआत चाय की दुकान से की थी। बाद में मैं शिक्षक बन गया और अब अस्पताल में लोगों को लगता है कि मैं डॉक्टर भी हूं।