मोदी की जगह PM बनने की चर्चाओं पर गडकरी ने दिया जवाब, जिसने जो लिखना है लिखे

वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी एक बार फिर गोवा में पार्टी के संकटमोचक के रूप में सामने आए। मनोहर पार्रिकर के निधन के बाद उन्होंने न केवल नए मुख्यमंत्री के चयन को लेकर तेजी दिखाई बल्कि गठबंधन में टूट को टालते हुए सहयोगी दलों को भी साधे रखा। जहां गडकरी की कूटनीति की इन दिनों काफी चर्चा है वहीं उनके नरेंद्र मोदी की जगह प्रधानमंत्री बनने को लेकर फिर से अटकलें लगनी शुरू हो गई हैं। उन्होंने अब खुलकर इन चर्चाओं पर बात की। गडकरी ने भाजपा के 220 सीटें लाने औप रीएम बनने के सवालों पर जवाब देते हुए कहा कि भाजपा में ऐसा कोई ‘220 क्लब’ नहीं है, जो यह चाहता हो कि लोकसभा चुनाव में सीटें घटें और पीएम मोदी के विकल्प के तौर पर कोई अन्य नेता उभरे। उन्होंने कहा कि यह सब मीडिया में चल रही अफवाहें हैं, इन पर ध्यान न दें।

गडकरी ने कहा कि किसी बेवकूफ ने ही 220 सीटों की अफवाह फैलाई है, भाजपा तो कम से कम 420 सीटें जीतेगी। सहयोगियों के साथ मिलकर काम करने और आरएसएस से भी बेहतर तालमेल होने के चलते उनका नाम पीएम के तौर पर सामने आ रहा है के साव पर उन्होंने कहा कि कुछ लोग जो लिखना चाहते हैं वो ही लिखेंगे जबकि असलियत में ऐसा कुछ नहीं हैं। उन्होंने कहा कि मैं खुद को पार्टी का समर्पित सिपाही मानता हूं और देश के लिए काम करता हूं मैं इस तरह की कैलकुलेशन नहीं करता और न ही ऐसी कोई अपेक्षा है।

उन्होंने कहा कि पार्टी को पूरी उम्मीद है कि पीएम मोदी के नेतृत्व में किए गए कामों के चलते भाजपा पूर्ण बहुमत के साथ सरकार में लौटेगी, इसलिए इन अफवाहों को कोई मतलब नहीं है। वहीं राम मंदिर और एयर स्ट्राइक पर हो रही राजनीति पर उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है। भारतीय सेना के साहस का सबूत मांगना अच्छी बात नहीं।