अब दो महीने तक बेरोजगार रहेंगे मछुआरे, मछली पकड़ने पर लगेगा जुर्माना

तमिलनाडुः तमिलनाडु के तट पर मछली पकड़ने पर सालाना 61 दिवसीय प्रतिबंध सोमवार से लागू हो गया। यह मौसम मछलियों के गर्भकाल का है। रामेश्वरम के मत्स्य विभाग के सहायक निदेशक एम गोपीनाथ ने बताया कि 13 जिलों की करीब 12,000 मशीन वाले नाव इस अवधि के दौरान समुद्र से दूर रहेंगी।

उन्होंने बताया कि यह प्रतिबंध 15 जून तक चलेगा। यह प्रतिबंध सिर्फ मशीन वाली नौकाओं के लिए है। यह प्रतिबंध पारंपरिक नावों पर लागू नहीं होता है। मशीन वाली नौकाओं के कारण प्रजनन के मौसम के दौरान समुद्री प्राणियों को बाधा पहुंचती है।

तमिलनाडु की तटरेखा 1,076 किलोमीटर से ज्यादा लंबी है और यह समुद्री मछली उत्पादन के मामले में मुख्य शीर्ष राज्यों में से एक है। 2017 से पहले यह प्रतिबंध 45 दिनों का था।रामेश्वरम मत्स्य संगठन के अध्यक्ष पी सेसुराजा ने कहा कि हजारों मछुआरे इस दौरान बेरोजगार हो जाएंगे। उन्होंने सरकार से मछुआरों को मुआवाजे के रुप में दी जाने वाली 5,000 रुपये की राशि बढ़ाकर 10,000 रुपये करने की मांग की है।