पाम संडे पर निकली रैली, चर्च में हुई प्रार्थना सभा के बाद हाथों में खजूर लेकर निकले लाेग

शिरीष सिलकारी 

सागरसेन्ट पॉल्स ईएलसी चर्च के तत्वाधान में रविवार काे पाम संडे मनाया गया। इस उपलक्ष्य में मंडली के सदस्यों ने पवित्र सप्ताह के कार्यक्रम की शुरुआत में सुबह रैली निकाली।

यह रैली क्रिश्चियन कॉॅलोनी तहसीली से शुरू हो कर पुलिस कंट्रोल रूम, शहीद कालीचरण चौराहा होते हुए जिला पंचायत के सामने समाप्त हुई। रैली में शामिल लोग होशना-होशना के नारे लगाते हुए चल रहे थे। जिसका अर्थ है ईश्वर की स्तुति हो, उनका सम्मान हो। सभी ने अपने अपने हाथों में खजूर लिए हुए थे। रैली की समाप्ति के बाद चर्च में रविवारीय आराधना सहायक पास्टर जयंत सिंह मैथ्यूज, सहायक पास्टर ईशा स्मिता क्रिस्टोफर के द्वारा संचालित की गई। मुख्य वक्ता पास्टर प्रशांत मसीह रायपुर ,छत्तीसगढ़ से थे। उन्होंने खजूर रविवार के महत्व एवं उसके मनाने के अर्थ को विस्तार से बताया। बताया गया कि इसी के साथ यहां से दुखभोग सप्ताह की शुरुआत होती है जो शुभ शुक्रवार यानी गुड फ्राइडे तक रहेगी। उसके तीन दिन के बाद यानि अगले रविवार को पुनरुत्थान दिवस यानी ईस्टर पर्व मनाया जाएगा। मान्यता है कि इसी दिन प्रभु यीशु मसीह दोबारा जीवित हुए थे। जिसका जश्न इसमें मनाया जाता है। रैली में मसीह समाज के बच्चों, युवाओं और महिला पुरुषों से लेकर बुजुर्गों तक ने सहभागिता की। चर्च के सचिव ई वाय कुमार ने बताया कि अब चर्च में सप्ताह भर कार्यक्रम चलेंगे। वहीं सेंट पीटर्स चर्च सीएनआई में भी पाम संडे मनाया गया। सभी ने खजूर की डाली सजाकर गीत गाते हुए चर्च में प्रवेश किया और आराधना की। संपूर्ण आराधना रेव्ह सुबेंद्र कनासिया द्वारा संचालित की गई। उन्होंने इसका महत्व बताया। चर्च के सचिव सनेंद्र कनासिया ने बताया कि यहां ईस्टर संडे तक विभिन्न कार्यक्रम होंगे।