मलाई खाने वालों को देश की कैसी चिंता, किसान विरोधी है ओडिशा सरकार: PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारे देश में सरकार के पास पैसे की कमी नहीं है। कमी रही है तो उस पैसे के सही इस्तेमाल की। प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले की सरकारों ने कभी इस पर ध्यान नहीं दिया कि जितने पैसे भेजे जा रहे हैं, वो आप तक पूरे पहुंचें या नहीं। ओडिशा के संबलपुर में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने पहले चरण की वोटिंग के बाद ओडिशा से जो संकेत आए हैं उससे साफ है कि दिल्ली में फिर एक बार मोदी सरकार और ओडिशा में भाजपा सरकार बनने जा रही है। उन्होंने कहा कि चौकीदार को समर्थन देने के लिए धन्यवाद।

मोदी की रैली के Highlights

  • 23 मई को जब फिर एक बार मोदी सरकार आएगी, तो ओडिशा के किसान परिवारों के बैंक खातों में सीधी मदद की व्यवस्था हम करने वाले हैं। कोई भी दलाल आपके पैसे पर पंजा नहीं मार पाएगा।
  • पहले की भ्रष्ट और कमजोर सरकारों का ही परिणाम है कि आज़ादी के इतने वर्ष बाद भी संपन्न ओडिशा की जनता गरीब ही रही।
  • जब इस चौकीदार ने विपक्षियों के भ्रष्टाचार के कारोबार पर प्रहार किया तो इनको इतना कष्ट हुआ है कि ये मुझे रास्ते से हटाना चाहते हैं। भाजपा की नई सरकार बनने पर एक जल शक्ति मंत्रालय बनाया जाएगा। इसके तहत देशभर की नदियों के, समुद्र के, बारिश के पानी को जरुरतमंदों तक पहुंचाने का मिशन चलाया जाएगा। इससे पानी से जुड़ी समस्याएं कम हो पाएंगी।
  • जमीन के नीचे की सम्पदा और यहां के जंगलों की समृद्धि ओडिशा की शक्ति है। ओडिशा की यही शक्ति भारत को ताकत दे रही है लेकिन इन जंगलों में रहने वालों की पूछ नहीं बल्कि लूट हुई है।
  • जिनकी प्राथमिकता सिर्फ मलाई खाने की रही हो, उनको आपकी चिंता कैसे होगी? चिटफंड और खनन माफिया को ही अगर सरकारें संरक्षण देती रहेंगी, तो सामान्य मानवी की चिंता कैसे संभव है। कोल ब्लाक घोटाले पर कैसे उंगली उठी है ये भी लोग जानते हैं।