नोट्रे-डेम घटना को लेकर YouTube से हुई बड़ी चूक

सिंगापुर: दुनिया के एतिहासिक नोट्रे डेम कैथेड्रल में लगी आग की घटना को लेकर यूट्यूब से एक बड़ी चूक हो गई। दरअसल यूट्यूब के तथ्यों को जांचने वाले एक फीचर ने पेरिस के नोट्रे-डेम गिरजाघर में आग लगने के सीधे प्रसारण को गलती से 9/11 आतंकवादी हमलों के विवरण के साथ टैग कर दिया। इस फीचर का मकसद गलत सूचनाओं से निपटना है।

यह आग फ्रांस की राजधानी में यूनेस्को विश्व धरोहर घोषित ऐतिहासिक स्थल पर लगी जिससे उसकी छत एवं गुंबद ढह गए और पूरा आसमान काले धुएं के गुबार से भर गया। इस भीषण आग के एक समय में पूरी इमारत को जद में ले लेने का खतरा लग रहा था लेकिन मंगलवार सुबह इस पर नियंत्रण पा लिया गया।  समाचार आउटलेट ने यूट्यूब पर आग का सीधा प्रसारण शुरू कर दिया था लेकिन कुछ क्लिप्स के नीचे असाधारण टैक्स्ट दिखने लगे जो 11 सितंबर 2001 में अमेरिका में हुए हमलों के संबंध में इनसाइक्लोपीडिया ब्रिटानिका की एंट्री से जुड़े हुए थे।

यूट्यूब के एक प्रवक्ता ने बताया कि टेक्स्ट बॉक्स फीचर को आग से जुड़े सीधे प्रसारणों (लाइव स्ट्रीम) के लिए बंद कर दिया गया है। प्रवक्ता ने कहा कि ये पट्टियां अपने आप चलने लगीं और हमारे सिस्टम कई बार गलत चीजें उठा लेते हैं। उन्होंने कहा कि हम नोट्रेडेम गिरजाघर में लगी आग से बहुत दुखी हैं। विकिपीडिया जैसे बाहरी स्रोतों से भी जुडऩे वाला यह फीचर पिछले साल लाया गया था। गलत एवं कड़ी सूचनाओं वाले वीडियो को लेकर काफी आलोचना झेलने के बाद यूट्यूब यह फीचर लेकर आया था।