पांचवें माले तक फैली आग, चार दमकलकर्मी घायल

निताबेनिबॉगडे 

नागपुर। सुरुची मसाला कंपनी में हुए भीषण अग्निकांड ने विकराल रूप धारण कर लिया है। आग पांचवें माले तक फैल गई है। बचाव कार्य के दौरान दमकल विभाग के चार कर्मचारी घायल हो गए हैं। दूसरे दिन मंगलवार को भी आग धधकती रही। 40 हजार मासलों के बोरे जलकर खाक हो गए हैं। इस पर नियंत्रण पाने में लगभग 15 दिन लग सकते हैं। आग से इमारत क्षतिग्रस्त हो गई है, जो कभी भी गिर सकती है। हादसे में करोड़ों रुपए का नुकसान बताया जा रहा है। आग शार्ट-सर्किट अथवा गर्मी की वजह से लगने का अनुमान लगाया जा रहा है। घटना को लेकर संदेह भी व्यक्त किया जा रहा है। भीषण आग के कारण इमारत में लगे लोहे पिघल गए हैं। दीवारों में भी दरारें पड़ गई हैं। इससे इमारत गिरने की संभावना मुख्य दमकल अधिकारी राजेंद्र उचके ने व्यक्त की है। उनका कहना है कि वैसे तो इमारत पक्की है, लेकिन इसके बाजू में बना शेड बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है। वह नहीं भी गिरा, तो उसे गिराना जरूरी है। अन्यथा इससे भी ज्यादा जान माल की हानि हो सकती है। कार्रवाई में उप मुख्य अधिकारी वी.पी. चंदनखेड़े, लकड़गंज थाना अधिकारी मोहन गधने, शक्करदरा थाना अधिकारी सुनील डोकरे, कॉटन मार्केट थाना अधिकारी आर. बर्डे, सुगत नगर, उपशमन अधिकारी आर. बुरनासे, आपत्ति व्यवस्था बन अधिकारी सुनील राऊत, केशव कोठे, सेवानिवृत्त अधिकारी डी. जी. निम्बाडकर शामिल थे।