दुल्हन के अपहरण के बाद बदमाश धाेद में ही छिप गए थे, चार गिरफ्तार, मुख्य आरोपी अंकित फरार

मनोहर कुमार पारीक 

नागवा गांव से शादी के बाद दुल्हन के अपहरण के मामले में पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस दुल्हन हंसा कंवर व अपहरण के मुख्य अाराेपी अंकित काे तलाश कर रही है। पुलिस की पांच टीमें तीन राज्याें में भेजी गई है। एसपी डाॅ.अमनदीप सिंह कपूर ने बताया कि दुल्हन का अपहरण करने वाले मुकेश कुमार पुत्र हरीराम जाट, निवासी भडकासली, महेंद्र सिंह पुत्र अर्जुन सिंह जाट निवासी नेतडवास, राजेश बगड़िया उर्फ धाेलिया पुत्र सांवरमल निवासी दुगाेली, अशाेक रेवाड़ पुत्र साेहनलाल निवासी भडकासली काे गिरफ्तार किया है। उन्हाेंने बताया कि चाराें दुल्हन का अपहरण करने के बाद वापस अाकर धोद में छिप गए थे। पुलिस टीम ने सूचना मिलने पर एक-एक कर चाराें काे गिरफतार कर लिया। उन्हाेंने बताया कि 17 अप्रैल काे कृष्ण सिंह पुत्र चैन सिंह निवासी नागवा ने रिपाेर्ट दर्ज कराई थी कि बाबाेसा गिरधारी सिंह ने साेनू कंवर की भंवरसिंह अाैर हंसा कंवर की राजेंद्र सिंह निवासी माेरडूंगा से शादी की थी। शादी में फेरे हाेने के बाद बारात काे विदा कर दिया था। गाड़ी में कृष्ण सिंह, शानू सिंह के अलावा दूल्हे अाैर दुल्हनें बैठी हुई थी। रात काे ढाई बजे दो गाड़ियों में आए सात-अाठ अादमियों ने उनकी गाड़ी रोकी। उनके हाथाें में लाठी-सरिए थे। अंकित अाैर मुकेश के साथ अन्य युवकाें ने उतरते ही गाड़ी के शाीशे ताेड़ दिए। उन्हाेंने हंसा कंवर काे गाड़ी से नीचे उतार लिया। दोनों दूल्हों और दुल्हनों ने विराेध किया ताे मारपीट कर हमला कर दिया। मारपीट कर हंसा काे गाड़ी में डाल कर ले गए। उसके गहने व 20 हजार रुपए भी ले गए।

 

राजपूत छात्रावास के बाहर देर रात विधायक राजेंद्र गुढ़ा, सुखदेव गाेगामेड़ी समाज के लाेगाें के साथ धरने पर बैठे हुए।