एकतरफा इश्क में आशिक ने रेता युवती के पिता का गला

दीपसिंह 

कासगंज,  थाना ढोलना क्षेत्र में इकतरफा इश्क में आशिक ने युवती के पिता की हत्या कर दी। युवती की शादी तय होने के बाद में आरोपित बार-बार युवती और पिता पर शादी न करने के लिए दबाव बना रहा था। शुक्रवार रात काम से घर लौटते वक्त उसने युवती के पिता को मार्ग में रोका तथा झाड़ियों में ले जाकर हत्या कर दी। परिजनों के पहुंचने पर हत्या का पर्दाफाश हुआ। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है।

ढोलना के गांव दनियागंज निवासी महेंद्र पुत्र बाबूराम कासगंज में बिलराम गेट पर एक सर्राफ के यहां नौकरी करता था। शुक्रवार की शाम को वह साइकिल से घर के लिए चला, लेकिन देर शाम तक घर नहीं पहुंचा तो परिजनों ने खोजबीन शुरू की। मृतक की पत्नी प्रेमवती को परिवार के अन्य सदस्यों से पता चला कि उन्होंने मार्ग में आरोपित को महेंद्र के साथ बात करते हुए देखा था। इस पर परिजनों को संदेह हुआ। परिजन उसे खोजने के लिए दौड़े तो मार्ग में उन्हें आरोपित मिले। परिजनों ने तलाश किया तो झाड़ियों के निकट महेंद्र की साइकिल पड़ी मिली तथा उनका शव पड़ा था। खबर मिलने पर इंस्पेक्टर रवेंद्र बहादुर मौके पर पहुंचे। प्रेमवती के अनुसार घर के सामने रहने वाला विवेक आए दिन बेटी को फोन करता था। बेटी ने इसकी जानकारी दी तो महेंद्र ने उसके परिजनों से शिकायत की। बेटी की शादी तय कर दी, लेकिन इसके बाद भी विवेक ने फोन करना बंद नहीं किया। वह फोन पर शादी न करने के लिए धमकियां देता था तथा महेंद्र से रंजिश मान बैठा था। पुलिस ने तहरीर के आधार पर विवेक एवं उसके भाई दीपक के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर आरोपित विवेक को गिरफ्तार कर लिया है।

7 मई को आनी थी बेटी की शादी : महेंद्र ने अपनी बेटी की शादी सोरों से तय कर दी थी। घर में शादी की तैयारियां चल रही थी। महेंद्र का परिवार भी तैयारियों में जुटा था। हत्या की वारदात के बाद परिवार में मातम फैल गया है।