PHD कर रही छात्रा ने नस काटी, नींद की गोलियां खाईं, वीडियो बनाकर दोस्तों को भेजा

तेजकरण (राजू) मोर्या

इंदौर। आईआईटी फाइनल की एक छात्रा ने गुरुवार को आत्महत्या करने के लिए हर तरह के प्रयास कर लिए लेकिन कामयाब नहीं हो पाई। उसने सबसे पहले खुद को कमरे में बंद कर हाथ की नस काट ली। फिर नींद की खाईं। इसके बाद फांसी लगाने का प्रयास किया और फंदा भी तैयार कर दिया।

इसके पूर्व फंदे का वीडियो और फोटो खींचकर कुछ दोस्तों को वाट्सएप कर दिया। हालांकि ऐनवक्त पर रहवासियों को खबर लग गई तो उन्होंने उसे बचा लिया और अस्पताल ले गए। घटना तेजाजी नगर थाना क्षेत्र स्थित सिल्वर स्प्रिंग फेज-1 स्थित फ्लैट की है।

जिंद (हरियाणा) निवासी 26 वर्षीय छात्रा भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) सिमरोल में पीएचडी कर रही है। वह कुछ दिन पूर्व परिजन से मिलने जिंद गई थी और बुधवार को इंदौर लौटी । गुरुवार दोपहर जैेसे ही दोस्तों को घटना पता चली, वे उसे कॉल करने लगे।

कॉल अटैंड नहीं करने पर कॉलोनी में रहने वाली एक योगा टीचर फ्लैट पर पहुंची। लोगों की मदद से दरवाजा खुलवाया और छात्रा को फांसी लगाने से रोका। इसके बाद उसे विजय नगर स्थित निजी अस्पताल में भर्ती करवाया। स्थिति में सुधार होने के बाद छात्रा को बॉम्बे अस्पताल रेफर कर दिया गया।