डायन के आरोप में पोते ने की दादी और बड़े पिता की हत्या

सिमडेगा. सदर थाना क्षेत्र के कुडरूम टोली तुंबारापू गांव मेंं डायन बिसाही के आरोप में एक युवक ने अपनी दादी और अपने बड़े पिताजी की लकड़ी से पीट-पीटकर हत्या कर दी। हत्या के बाद पुलिस ने आरोपी रमेश सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। गांव के रामकुमार सिंह और उसकी मां बिरसमनी देवी शुक्रवार की शाम पांच बजे गांव के ही अमरनाथ सिंह के खेत पर बैठे हुए थे। इसी दौरान रमेश सिंह वहां पहुंचा और अपनी दादी बिरसमनी देवी को डायन कहकर प्रताड़ित करने लगा। रमेश अपनी बड़ी मां बिरसमनी पर आरोप लगाने लगा कि वह डायन है और जादू टोना कर उसके परिवार को परेशान कर रही है।

रमेश को समझाने की कोशिश तो तो पीट-पीटकर ले ली जान
रमेश और बिरसमनी के बीच हो रहे झगड़े को सुलझाने के लिए रामकुमार सिंह ने कोशिश की और रमेश को समझाने बुझाने लगे तो रमेश गुस्से में आ गया और लकड़ी का टुकड़ा लेकर दोनों को पीटने लगा। जिससे रामकुमार और उसकी
दादी बिरसमनी देवी की मौके पर मौत हो गई। घटना की जानकारी रविवार की सुबह सदर पुलिस को मिली। जानकारी मिलते ही सदर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर रविंद्र कुमार सिंह के नेतृत्व में पुलिस मौके पर पहुंची और घटना के बारे जानकारी प्राप्त की। उन्होंने दोनाें शवों को अपने कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं आरोपी को गिरफ्तार कर कड़ी पूछ़ताछ के बाद जेल भेज दिया।

आरोपी ने कबूला जुर्म
पुलिस के अनुसार घटना में आरोपी ने अपनी संलिप्तता स्वीकार की है और कहा है कि उसकी बड़ी मां जादू टोना जानती थी और उसे परेशान कर रही थी। इस मामले में मृतक रामकुमार सिंह की पत्नी कलावती देवी की शिकायत पर रमेश के
खिलाफ सदर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। कलावती ने प्राथमिकी में कहा है कि रमेश छोटी-छोटी बातों पर अक्सर उसके पति और उसकी सास के साथ लड़ाई झगड़ा करता रहता था। सदर थाना प्रभारी रविंद्र सिंह ने कहा कि अंधविश्वास के चलते दोहरे हत्याकांड की घटना घटी है। डायन बिसाही के आरोप में हत्या की गई है। फिलहाल पुलिस मामले की अनुसंधान कर रही है।