प्रेम प्रसंग में छात्र की हत्या, धारदार मशीन से काटा चेहरा

श्रीमती विजय लक्ष्मी श्रीवास्तव

कानपुर : ग्वालटोली के परमट में डीजी कालेज के पीछे टेफ्को बक्कल कंपाउंड के जंगल में जीएनके कालेज के इंटर के छात्र 18 वर्षीय पीयूष कटियार की प्रेम प्रसंग के चलते नृशंस हत्या कर दी गई। कातिलों ने पहचान मिटाने के लिए चेहरा व गुप्तांग धारदार मशीन से काटकर शव फेंक दिया था। देर शाम पीयूष की प्रेमिका उसे पूछते हुए दादी के घर पहुंचीं तब शिनाख्त हुई। पुलिस युवती के बेनाझाबर निवासी मामा मोनू चैप्टर समेत दो युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ में जुटी है।

बक्कल कंपाउंड के पीछे ही सुधाकर राय की ई रिक्शा कंपनी के चालक गोपाल ने सुबह जंगल में पुराने गेस्ट हाउस के सामने 18-20 वर्षीय युवक का शव देख लोगों को बताया। उसका चेहरा व गुप्तांग किसी धारदार मशीन से काटा गया था। शरीर पर नीले सफेद रंग की शर्ट, जींस, कलाई में घड़ी व चमड़े की चप्पलें थीं। मालिक सुधाकर राय के बेटे अखिलेश ने कंट्रोल रूम को सूचना दी। पुलिस पहुंची और फोरेंसिक टीम व डॉग स्क्वाड को बुलाकर पड़ताल कराई गई। मृतक के कपड़ों की तलाशी ली गई लेकिन पहचान नहीं हुई। खोजी कुत्ता भी कंपाउंड में घूमकर लौट आया।देर शाम मृतक की फोटो देख कुछ युवकों ने पुलिस को शव परमट के छोटा पार्क के पास रहने वाले इंटर के छात्र पीयूष का होने की आशंका जताई। पुलिस पूछताछ में जुटी थी कि मोहल्ले की अनुसूचित जाति की एक युवती रोते हुए पीयूष के बारे में पूछते हुए उनके घर पहुंची और कुछ देर बाद लौट गई। परिजन कुछ समझ पाते, तभी पुलिस ने आकर मृतक के कपड़े और घड़ी दिखाई। देखते ही परिजन फफक पड़े और पीयूष के कपड़े होने की बात कही। उन्होंने युवती के परिवार पर हत्या का संदेह भी जताया। पुलिस युवती के घर पहुंची, लेकिन उसका परिवार ताला बंद कर फरार हो चुका था।