साध्वी प्रज्ञा के बड़बोलेपन से BJP मुश्किलों में, पूर्व विधायक ने साधा निशाना, शिवराज ने दी नसीहत

सागर:  भोपाल लोकसभा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर अपने बेतूके बयानों की वजह से काफी चर्चाओं में हैं। साध्वी द्वारा दिए जा रहे विवादित बयानों से पार्टी की मुश्किलें बढ़ रही हैं। चुनाव आयोग भी उन्हें दो बार नोटिस थमा चुका है। फिल्मी सितारों से लेकर राजनीतिक दलों के नेता उनके बयानों पर आपत्ति जता रहे हैं। वहीं अब बीजेपी में भी उनके खिलाफ विरोधी सुर उठने लगे हैं। उनके हालिया बयान से पार्टी के नेताओं ने नाराजगी जाहिर की है। इसी क्रम में सबसे पहले सोशल मीडिया पर बीजेपी पूर्व विधायक पारुल साहू ने मोर्चा खोला है। उन्होंने सोशल मीडिया पर प्रज्ञा के बयान की निंदा की है। उन्होंने कहा कि ‘अनेकता में एकता ही भारत की पहचान है।’

उन्होंने कहा कि ‘बीजेपी पार्टी की कार्यकर्ता होने के नाते हम सब जानते हैं सबका साथ सबका विकास पार्टी यही बीजेपी की विचार धारा है। इसकी वजह से देश का युवा हमसे जुड़ा है। इसलिए मुझे लगता है कि इस तरह के जो बयान आते हैं वह पार्टी के लिए बड़ा नुकसान हैं। आज का यूथ इस रह के बयान पसंद नहीं करता है। इसलिए पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को इस बारे में चिंता करना चाहिए। आजका युवा सबका साथ सबका विकास विचारधारा पर चलता है’।
शिवराज ने दी ये सलाह
विवादित बयानों से पार्टी की मुश्किलें बढ़ता देख पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने साध्वी प्रज्ञा को बीजेपी दफ्तर बुलाया।  चौहान ने साध्वी के साथ बैठक की और विवादित बयानों से बचने की सलाह दी है।