साध्वी प्रज्ञा के बचाव में उतरे शाह- बोले झूठे केस में फंसाया गया

कोलकत्ता: भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा अपने विवादित बयानों से खूब चर्चाओं में हैं। अपने बड़बोलेपन से पार्टी की किरकिरी करवा चुकी साध्वी प्रज्ञा के बचाव में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने एक बड़ा बयान दिया है। कोलकत्ता में एक जनसभा को संबोधित करते हुए शाह ने कहा ‘मालेगांव ब्लास्ट में साध्वी प्रज्ञा को फंसाया गया। इस मामले में मुख्य आरोपियों को रिहा कर दिया गया और बेगुनाहों को सजा दी गई।’ उन्होंने आगे कहा कि, भगवा आतंकवाद के नाम पर  साध्वी को झूठे केस में फंसाया गया है

मालेगांव ब्लास्ट मामला
महाराष्ट्र के मालेगांव में अंजुमन चौक और भीकू चौक के बीच शकील गुड्स ट्रांसपोर्ट के सामने 29 सितंबर 2008 की रात 9.35 बजे बम धमाका हुआ था जिसमें छह लोग मारे गए और 101 लोग घायल हुए थे। इस धमाके में एक मोटरसाइकिल इस्तेमाल की गई थी। एनआईए की रिपोर्ट के मुताबिक यह मोटरसाइकिल प्रज्ञा ठाकुर के नाम पर थी।महाराष्ट्र एटीएस ने हेमंत करकरे के नेतृत्व में इसकी जांच की और इस नतीजे पर पहुँची कि उस मोटरसाइकिल के तार गुजरात के सूरत और अंत में प्रज्ञा ठाकुर से जुड़े थे।

चुनाव आयोग के नोटिस का दिया जवाब
वहीं चुनाव आयोग की ओर से जारी नोटिस का साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने जवाब दे दिया है। अपने जवाब में साध्वी ने कहा है कि उन्होंने किसी शहीद का अपमान नहीं किया है। चुनाव आयोग को भेजे गए जवाब में साध्वी ने लिखा है- किसी दल के नेता या राजनैतिक कार्यकर्ता के निजी जीवन के बारे में कुछ नहीं कहा है. बिन्दु क्रमांक- 3 पूर्व रूप से अस्वीकार है।

PunjabKesari