बौंली (अजय शेखर शर्मा) पीपल ब्याहे नृसिंह भगवान


बौंली— सवाई माधोपुर जिले के बौंली उपखंड की लाखनपुर ग्राम पंचायत के गोठडा बालाजी मंदिर स्थित पीपल का विवाह सोमवार को एक ऐतिहासिक यादगार बनकर रह गया ।लाखनपुर के नरसिंह भगवान ने गोठड़ा पहुंच वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच पीपल के संग ब्याह रचाया ।इस अनूठे दृश्य की यादें ग्रामीणों के लिए इतिहास बनकर रह गई। भगवान नरसिंह व पीपल माता के इस अनोखे विवाह के कई गांव व ढाणियों के हजारों ग्रामीणों ने साक्षी बन अपने आप को कृतार्थ किया ।जानकारी के अनुसार लाखनपुर स्थित नरसिंह भगवान के विवाह के लिए शनिवार को लग्न पत्रिका आने के बाद क्षेत्र में हर्ष व खुशी का माहौल पैदा हो गया ।लोग तीन दिवस से इस विवाह की तैयारियों में व्यस्त थे। रविवार को मंडप व प्रीतिभोज का आयोजन होने के बाद सोमवार को लाखनपुर गांव में निकासी के बाद सीधे ही बैंड बाजों के साथ पैदल पैदल बारात ने गोठडा बालाजी के लिए चढ़ाई शुरू की ।बरात की चढ़ाई में भगवान नरसिंह के साथ सीताराम जी ,लक्ष्मी नारायण जी सहित बाल रूप में सजे कई देवगण अपने वाहनों में सवार हो वधू पक्ष के यहां गोठड़ा पहुंचे। जहां ग्रामीणों ने हर्षोल्लास के साथ देवगण और बारातियों की अगवानी की ।बारात स्वागत के बाद विद्वान पंडितों ने वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ भगवान नरसिंह व पीपल माता का पानी ग्रहण संस्कार संपन्न कराया। बारात की चढ़ाई के लिए सवाई माधोपुर से बैंड बुलाया गया। बारात चढ़ाई में सुंदर झांकियां सजाई गई ।गोल ग्राम में ग्रामीणों ने बरात का जलपान करा स्वागत किया। बाराती यहां के राधा कृष्ण मंदिर से राधा कृष्ण का रथ सजा उन्हें भी बारात में अपने साथ लेकर गए। विवाह के इस मौके पर महिलाओं ने मंगल गीत गाए तो लोगों ने हरि कीर्तन कर भगवान नरसिंह के जयकारे लगा माहौल को भक्तिमय बना दिया। इस विवाह से क्षेत्र में चहुँ और भक्ति का माहौल बना हुआ था ।
फोटो वीडियो