सागर सांसद का दर्द सामने आया

अनुराग शर्मा/सागर

*सागर सांसद के मन की व्यथा आई सामने*सागर लोकसभा के भाजपा प्रत्याशी के खिलाफ जताई नाराजगी ,कहा नही करेंगे प्रचार, पूर्व ग्रहमन्त्री ने टिकिट हाईजैक किया*

भाजपा ने यादव प्रत्याशी हारने के लिए उतारे , ज्योतिरादित्य सिंधिया के खिलाफ लड़ रहे भाजपा प्रत्याशी की उम्मीदवारी पर बोले,कहा बिजूका बना रही है पार्टी
सागर लोकसभा सीट पर पिछले छह चुनाव से लगातार जीत रही भाजपा के लिए सातवां चुनाव में पार्टी के लोगो से ही विरोध का सामना करने पड़ रहा है । टिकिट वितरण के बाद नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव और पूर्व शिक्षा मंत्री और वर्तमान सांसद लष्मीनारायन यादव सहित कई नाराज बताए जा रहे है । दोनो प्रमुख नेता पार्टी की किसी भी बैठक और नामांकन पर्चा दाखिल करने तक नही पहुचे है ।मंगलवार को नामांकन रैली में दोनो नेता अनुपस्थित रहे ।सागर से भाजपा नेमौजूदा सांसद लष्मी नारायण यादव का 75 साल के आधार पर टिकिट काटते हुए नगर निगम के अध्यक्ष राजबहादुर सिंह को टिकिट दिया है । राजबहादुर को पूर्व गृहमन्त्री भपेंद्र सिंह ने रिश्तेदार होने के नाते टिकिट दिलाया है । टिकिट वितरण से नाराज जैन समाज पहले ही अपना प्रत्याशी मैदान में उतार चुकी है।आज सांसद लष्मीनारायन यादव खुलकर विरोध में आ गए । सांसद ने आज मीडिया से कहा कि मुझे उम्रदराज मानकर पार्टी ने टिकिट नही दिया ।इस बात की नाराजगी नही है ।लेकिन सागर में पार्टी ने योग्य को टिकिट नही दिया। इसकी नाराजगी है । उन्होंने पूर्व गृहमन्त्री भपेंद्र सिंह का नाम लिए बगैर कहा कि एक गुट विशेष ने टिकिट हाईजैक कर लिया ।इससे नाराज हूँ। उन्होंने साफ कहा में सागर लोकसभा क्षेत्र में कही भाजपा का प्रचार नही जाऊंगा ।
उन्होंने कहा कि टिकिट के चयन में मापदंड नही अपनाए ।सागर छोड़कर दूसरे सीट पर जरूर भाजपा का प्रचार करूंगा । उन्होंने मोदी लहर पर कहा कि मोदी लहर है लेकिन इसका मतलब यह नही है कि कोई भी जीत जाए ।सांसद ने यादव समाज की उवेक्षा और हारने के लिए समाज के के पी यादव को गुना से ज्योतिरादित्य सिंधिया के खिलाफ लड़ाये जाने पर कहा कि भाजपा ने कमजोर सीट पर दिखावे के लिए टिकिट दे दिया । ये उसी तरह है जैसे खेत मे बिजूका खड़े करते है । यादव समाज एमपी में नाराज है इसको लेकर बैठके हुई है इस दौरान सांसद लक्ष्मीनारायण यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम बिना सम्मान सूचक शब्दों का उपयोग किए लिया