भारतीय लड़का बना ब्रिटेन का सबसे युवा अकाऊंटैंट

लंदन: भारतीय मूल का 15 साल का लड़का सबसे कम उम्र का लेखाकार (अकाऊंटैंट) बना है। उसने स्कूल में रहने के दौरान ही अकाऊंटैंसी की कंपनी स्थापित की है। दक्षिण लंदन में रहने वाले रनवीर सिंह संधू ने अपने लिए 25 साल की उम्र तक करोड़पति बनने का लक्ष्य तय कर रखा है। संधू ने 12 साल की उम्र में अपना पहला कारोबार शुरू किया था। वह अपनी सेवा के लिए प्रति घंटे 12 से 15 पौंड लेता है।

उन्होंने सोशल मीडिया पर कहा कि 15 साल का युवा उद्यमी अपना सर्वश्रेष्ठ जीवन जी रहा है और धन कमाने की कोशिश कर रहा है। स्कूली छात्र ने कहा कि वह बहुत पहले से ही जानते थे कि उन्हें अकाउंटेंट और वित्तीय सलाहकार बनना है ताकि वह अपने सपनों का कारोबार शुरू करने वाले साथी युवाओं की मदद कर सकें। रनवीर ज्यादातर अपना काम घर से ही करते हैं।

उनके पिता अमन सिंह संधू (50 ) पेशे से बिल्डर हैं और मां दलविंदर कौर संधू एक एस्टेट एजेंट के रूप में काम करती हैं। रनवीर ने कहा कि मेरी हमेशा से ख्वाहिश रही है कि मैं खूब पैसा कमाऊं, अपने व्यवसाय का विस्तार कर इसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर स्थापित कर सकूं। इसमें मेरे माता-पिता ने हमेशा मेरी मदद की है। उन्होंने कहा कि भविष्य की मेरी योजना यह है कि मुझे करोड़पति बनना है और अपने कारोबार का दायरा बढ़ाना है।