सावन में इन 5 तरीकों से भगवान शिव को करें प्रसन्न, पूरी होंगी मनोकामनाएं

Sawan 2020: सावन का महीना शिव को प्रसन्न करने के लिए सर्वश्रेष्ठ है। मान्यता है कि इन दिनों भोलेनाथ अपनी ससुराल में रहते है। अतः बहुत जल्दी मनोरथ सिद्ध कर देते हैं। इस माह में भोलेनाथ भक्तों को मनचाहा वरदान भी देते हैं। ज्योतिषाचार्या साक्षी शर्मा के अनुसार, ज्योतिष के ग्रंथों के ये सर्वसिद्द उपाय है, जिन्हें करने से महादेव हर इच्छा पूरी करते हैं।

1. बेल पत्र चढ़ाएं

सावन में रोज 21 बिल्वपत्रों पर चंदन से ॐ नमः शिवाय लिखकर शिवलिंग पर चढ़ाएं। इससे आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं। कोरोना के चलते बाहर ना जाएं, बल्कि घर पर ही भोलेनाथ के चित्र के आगे या फिर यदि घर में शिवलिंग हो तो उस पर बिल्वपत्र चढ़ाएं। अगले दिन इन बिल्वपत्रों को किसी पौधे की जड़ में डाल दें।

2. शिवजी को केसर युक्त दूध अर्पित करें

अगर आपके घर में किसी भी प्रकार का क्लेश हो या सदस्यों में मनमुटाव की परेशानी हो तो सावन में रोज़ सुबह घर में गौमूत्र का छिड़काव करें तथा गुग्गुल की धूप दें। ऐसा करने से घर का वातावरण शांत और अनुकूल बनेगा। यदि जल्दी ही घोड़ी चढ़ना चाहते हैं, तो रोज़ शिवलिंग पर केसर मिला दूध चढ़ाएं। इससे जल्दी ही विवाह के योग बन सकते हैं।

3. गाय को हरा चारा खिलाएं

सावन में हर रोज़ घर के आस पास कोई गाय दिखे, तो उसे खाने के लिए पालक दे सकते हैं। इससे आमदनी बढ़ेगी और सुख मिलेगा। सावन में रोज़ गरीबों को भोजन कराएं, आपके घर के आसपास कोई गरीब रहता हो तो उसे खाने का सूखा समान दे सकते है। इससे आपके घर में कभी अन्न की कमी नहीं होगी तथा पितरों की कृपा से आपको शांति मिलेगी।

4. तिल मिले जल से शिव का जलाभिषेक करें

पानी में काले तिल मिलाकर घर पर ही शिवलिंग का अभिषेक करें और ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप करें। इससे मन को शांति मिलेगी। नवग्रहों की शांति के लिए शिवलिंग का अभिषेक करते समय नवग्रह शांति मंत्र पढ़े। इससे सभी ग्रह शांत होंगे और भोलेनाथ की अपार कृपा मिलेगी। सावन में मछलियों को आटे की गोलियां खिलाएं। मन में भगवान शिव का ध्यान करते रहे। इससे धन लाभ के योग बनते हैं।

5. संतान प्राप्ति के लिए हल्दी मिश्रित दूध चढ़ाएं

सावन में संतान की कामना रखने वाले दंपत्ति घर में शिवलिंग स्थापित करके हल्दी मिश्रित दुग्ध से उसका अभिषेक करें। भोलेनाथ ने चाहा तो जल्द ही घर में किलकारियां गूंजेगी। जो कन्याएं विवाह लायक हैं, उन्हें मां गौरी को श्रृंगार चढ़ाना चाहिए। साथ ही उनसे मनचाहे वर की कामना करें। जल्द ही इच्छा पूरी होगी।