पन्नाली के खेत में लकड़बग्घे ने किया बकरियों का शिकार

 

जितेंद्र खोरी

बड़वानी-पानसेमल से करीब 10 किलोमीटर पन्नाली पंचायत के कलज्या फलिया में गोविंद रायला के खेत में एक जंगली जानवर ने बकरियों को अपना शिकार बनाया ।। पहले तो लोगों को लग रहा था कि यह खूंखार तेंदुआ होगा । लेकिन बाद में उसके पग मार्क से से पता चला कि वह एक लकड़बग्घा है । रात्रि में एक सुनी झोपड़ी में बंधी बकरी और बकरे को लकड़बग्घे ने अपना शिकार बनाया लिया । सुबह जब झोपड़ी में बकरी को देखने पहुंचे तो तो बकरियां खूटे पर बंधी नहीं थी । लकड़बग्घा लकड़ी से बने टट्टे को तोड़कर बकरियों को मक्के के खेत में खींच कर ले गया और वही उसने बकरे और बकरी का शिकार किया । वहां बकरे बकरी के अंग क्षत-विक्षत होकर बिखरे पड़े थे । इसके बाद पानसेमल वन परीक्षेत्र अधिकारी मंगेश बुंदेला को फोन पर सूचना दी गई और उन्होंने डिप्टी रेंजर राजकमल आर्य की टीम को मौके पर पहुंचाया । जहां टीम ने मौका पंचनामा बनाया । आर्य ने बताया कि शुरुआत में लोगों के मध्य क्षेत्र में तेंदुए होने की आशंका जताई थी । क्योंकि इस क्षेत्र में 6 से 7 तेंदुए पहले भी पकड़े जा चुके है । लेकिन टीम द्वारा खेत में मिले पग मार्ग से पता किया कि वह एक खूंखार लकड़बग्घा है जो घरेलू पशुओं का शिकार करता है । पहले भी एक लकड़बग्घा पिंजरे में कैद हो चुका है आमदा और निसरपुर में पिंजरे लगे हुए हैं यह भी पिंजरे में कैद होगा । लोग अकेले खेत में ना जाए व अपनी सुरक्षा का ध्यान रखें । कोई मूवमेंट दिखने पर तुरंत वन मंडल क्षेत्र में सूचना करें ।