खाड़ी देशों में नौकरी की राह देख रहे हैं तो सावधान, फर्जी रोजगार एजेंट दे रहे धोखा

 

अगर आप खाड़ी देशों में नौकरी ढूढ़ रहे हैं तो सावधान हो जाएं। नौकरी की तलाश कर रहे लोगों से रोजगार दिलाने के नाम पर फर्जी एजेंट लोगों को धोखा दे रहे हैं। ताजा मामला यूएई का है। दलालों ने 12 भारतीय महिलाओं को रोजगार दिलाने के नाम पर यूएई में ठगा है। गल्फ न्यूज की खबर के मुताबिक 21 से 46 वर्ष के बीच की इन महिलाओं को घरों में काम करने की नौकरी दिलाने की बात कही गई थी, लेकिन जब महिलाएं यूएई पहुंची तो उन्हें पता चला कि उनके साथ धोखा हुआ है।

इसको लेकर संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में भारतीय दूतावास ने नौकरी की तलाश कर रहे लोगों से रोजगार दिलाने के नाम पर फर्जी एजेंटों से सावधान रहने की सलाह दी है, जिन्होंने कोरोना वायरस संक्रमण के कारण कुछ दिन शांत रहने के बाद फिर से भोले-भाले लोगों को निशाना बनाना शुरू कर दिया है। गुरुवार को मीडिया की एक खबर में यह जानकारी दी गई।

विदेश मंत्रालय में सचिव संजय भट्टाचार्या ने इस सप्ताह की शुरुआत में ट्वीट किया था कि इस बात से चिंतित हूं कि कुछ बदमाश एजेंट हमारे नागरिकों का शोषण कर रहे हैं और उन्हें विदेशों में खतरों में डाल रहे हैं। भर्ती एजेंट को विश्वसनीय ढंग से काम करना चाहिए अन्यथा उन्हें जिम्मेदार ठहराया जाएगा।

समुदाय आधारित एक संगठन इंडियन एसोसिएशन इन अजमान के महासचिव रूप सिद्धु ने गल्फ न्यूज से बातचीत में कहा कि अजमान पुलिस ने इस मामले में एक एजेंट को गिरफ्तार कर लिया है। उन्होंने बताया कि महिलाओं को दो अपार्टमेंट में सात और पांच के समूह में बंद पाया गया और महिलाओं ने अपने साथ बदसलूकी की शिकायत की है।