BCCI प्रेसीडेंट सौरव गांगुली को फिर दिल में दिक्कत, डॉ. शेट्टी की मौजूदगी में कल लगाया जाएगा स्टेंट

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली को दूसरी बार दिल में दिक्कत आने की वजह से कोलकाता के अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया। उनकी एंजियोप्लास्टी को हुए अभी एक महीना भी नहीं बीता है। अस्पताल ने बयान में कहा कि भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान 48 वर्षीय गांगुली के अस्पताल के क्रिटिकल केयर यूनिट (CCU) में कई टेस्ट किए गए और उनमें कोई बदलाव नहीं आया है। वे फिलहाल स्थिर हैं। इस कड़ी में वुडलैंड्स अस्पताल के डॉक्टर सपतार्सी बासु और सरोज मंडल ने उनकी जांच की। कल गुरुवार को अपोलो अस्पताल के डॉक्टर आफताब खान प्रसिद्ध कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. देवी शेट्टी की मौजूदगी में गांगुली की स्टेंटिंग करेंगे।

इससे पहले अपोलो अस्पताल ने अपने बयान में कहा कि गांगुली अपने दिल का चेकअप कराने के लिए आए। पिछली बार अस्पताल में भर्ती होने के बाद उनके मापदंडों में कोई बदलाव नहीं आया है और उनके महत्वपूर्ण पैरामीटर (तापमान, पल्स, श्वसन दर और ब्लड प्रैशर) स्थिर हैं। एक सीनियर डॉक्टर ने बताया कि गांगुली बुधवार की रात को भी अस्तपाल में रहेंगे और डॉक्टर गुरुवार को उनकी एंजियोग्राफी भी कर सकते हैं।

गौरतलब है कि इस महीने की शुरुआत में भारत के पूर्व कप्तान को घर में एक्सरसाइज करते हुए सीने में दर्द उठा था। उनकी धमनियों में रुकावट पाई गई थी। इसके बाद गांगुली की एंजियोप्लास्टी हुई थी। उनके इलाज के लिए नौ सदस्यीय चिकित्सा टीम बनाई गई थी और देवी शेट्टी, आर के पांडा, सैमुअल मैथ्यू, अश्विन मेहता तथा न्यूयॉर्क से शमिन के शर्मा जैसे स्पेशलिस्ट से राय लेने के बाद दिल की धमनी में स्टेंट डाला गया था।

पिछली बार तबीयत खराब होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायुडू और राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अस्पताल जाकर उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली थी, जबकि केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री और बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने भी उनका हालचाल लिया था। नायुडू और मोदी ने गांगुली के परिवार के साथ फोन पर बातचीत की और उनके स्वास्थ्य के बारे में ताजा जानकारी ली थी।