पेट्रोल की कीमतों पर नहीं बोले तो…अमिताभ-अक्षय को धमकाने वाली कांग्रेस को मिला शिवसेना का साथ

देश में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर अब तक चुप्पी साधने वाल जैसे बॉलीवुड सितारे कांग्रेस के बाद अब शिवसेना के भी निशाने पर आ गए हैं। अमिताभ बच्चन और अक्षय कुमार को फिल्म की शूटिंग नहीं करने देने वाले कांग्रेस नेता नाना पटोले को शिवसेना का साथ मिला है। शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने कहा है कि नाना पटोले का बयान बिल्कुल सही है। हालांकि, भाजपा ने नाना पटोले के बयान को पब्लिसटी स्टंट बताया था।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, नाना पटोले के अमिताभ बच्चन और अक्षय कुमार को फिल्म की शूटिंग नहीं करने देने के बयान पर शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने कहा कि  नाना पटोले का जो बयान है वो सही है, कल थोड़ा सा भाव क्या बढ़ा तो ये लोग रास्ते पर आते थे। दरअसल, नाना पटोले ने धमकी देते हुए कहा था कि यदि अमिताभ बच्चन और अक्षय कुमार जैसे बॉलिवुड सितारे पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ नहीं बोले तो महाराष्ट्र में उनकी फिल्मों की शूटिंग नहीं होने दी जाएगी।

नाना पटोले ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि अमिताभ बच्चन और अक्षय कुमार ने यूपीए के नेतृत्व वाली सरकार के दौरान ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी पर ट्वीट किया था, लेकिन अब वे इस मुद्दे पर खामोश हैं। पटोले ने कहा कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी से आम लोग काफी प्रभावित हुए हैं। उन्होंने कहा कि अमिताभ बच्चन और अक्षय कुमार जैसे कलाकारों ने मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली सरकार के दौरान अपने ट्वीट के जरिए ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी की आलोचना की थी। महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रमुख ने सवाल किया कि अब वे (अभिनेता) पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी पर चुप क्यों हैं?

पटोले ने कहा, ”भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जी ने वैश्विक बाजार में कच्चे तेल की अधिक कीमतों के बावजूद ईंधन की कीमतों को कम रखा। अमिताभ बच्चन और अक्षय कुमार ने तब ट्वीट करते हुए डिमांड की थी कि ईंधन को 5-10 रुपए में बेचा जाए। अब पीएम मोदी की अगुवाई वाली सरकार क्यों ईंधन की कीमत बढ़ा रह है? अब वे क्यों ट्वीट नहीं कर रहे हैं।”

पटोले ने कहा कि इन एक्टर्स की जवाबदेही होनी चाहिए। उन्होंने आगे पूछा, ”क्या ये केंद्र सरकार के दबाव में हैं? जो लोग उनके लिए आवाज नहीं उठाते जो उनकी फिल्मों का टिकट खरीदकर देखते हैं, उनकी फिल्में महाराष्ट्र में नहीं देखी जाएगी ना ही शूटिंग होगी। यह धमकी नहीं है। यह लोकतंत्र है और आप लोगों के आदर्श हैं और जवाबदेही है।”