एक बार फिर 60 रुपये के पार पहुंचा प्याज, जानें क्यों बढ़ रहे हैं दाम

महंगाई की मार झेल रहे लोगों को प्याज के दामों में अचानक उछाल आने से परेशानी और बढ़ गई है। एक बार फिर से प्याज की कीमत देश के कई हिस्सों में 60 रुपये के पार पहुंच गई है। नोएडा के सेक्टरों में लगने वाली रेहड़ियों और छोटी दुकानों पर प्याज को 70 से 80 रुपये किलो तक बेचा जा रहा है। बीते दो दिन में प्याज के भाव में 10 से 15 रुपये की तेजी आई है।

दरअसल, कुछ समय पहले महाराष्ट्र में बेमौसम बरसात होने और ओले पड़ने की वजह से बड़ी मात्रा में प्याज की फसल खराब हो गई। इससे एशिया की सबसे बड़ी प्याज मंडी महाराष्ट्र के नाशिक के पास स्थिति लासलगांव मंडी में एग्रीकल्चर प्रोड्यूस मार्केट कमेटी में प्याज का औसत थोक भाव पिछले 2 दिनों में 970 रुपये प्रति क्विंटल बढ़कर 4200-4500 रुपये प्रति क्विंटल पहुंच गए हैं। नासिक के लासलगांव से देश भर में प्याज भेजा जाता है। कुछ समय पहले महाराष्ट्र में बेमौसम बरसात होने और ओले पड़ने की वजह से बड़ी मात्रा में प्याज की फसल खराब हो गई। इससे थोक मंडी में प्याज की आवक कम हो गई। प्याज महंगा होने की यही सबसे अहम वजह बताई जा रही है। एक व्यापरी के मुताबिक बारिश के चलते दाम में इजाफा हुआ है। 20 फरवरी को लासलगांव मंडी में प्याज के भाव 3,500-4,500 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से बिक रहा है।

देशभर में बीते दो दिन में जबरदस्त आया उछाल
बीते दो दिन में प्याज के भाव में जबरदस्त उछाल आया है। दिल्ली के खुदरा बाजार में प्याज के भाव एक बार 60 रुपये किलो हो गया है। आलम यह है कि प्याज के दामों में पिछले 30 दिनों में दूसरी बार तेजी दर्ज की गई है। जिसके तहत प्याज के थोक भाव में 40 फीसदी तक बढ़ोतरी हुई है। आजदपुर मंडी के प्याज कारोबारी ने बताया कि फसल खराब होने के कारण दामों में यह बढ़ोतरी हुई है। बीते दिनों जो प्याज मंडी में 20 से 30 रुपये किलो थोक भाव से बिक रही थी। उसके भाव 25 से 40 रुपये किलो तक पहुंच गए हैं। नोएडा में भी बीते दो दिन में प्याज के भाव में बड़ा उछाल आया है। प्याज के थोक रेटों में एक हजार से 12 सौ रुपये कुंतल तक की तेजी आई है। नोएडा के सेक्टरों में लगने वाली रेहड़ियों और छोटी-छोटी दुकानों पर प्याज को 70 से 80 रुपये किलो तक बेचा जा रहा है।

थोक भाव 40 फीसदी तक चढ़े

गोरखपुर में प्याज की कीमत एक महीने में दो गुनी हो गई। तकरीबन 30 दिन पहले मंडी में थोक में प्याज की कीमत जहां 24 रुपये किलो थी वहीं आज 45 रुपये किलो की दर से बिका। एक माह पहले फुटकर बाजार में प्याज 30 रुपये किलो था जबकि रविवार को 60 रुपये बिक रहा है। वहीं, झारखंड में डेढ़ माह में प्याज की कीमत में 20 रुपए की वृद्धि हुई है। झारखंड में प्याज एक बार फिर रसोई का जायका फीका करने की राह पर है। रांची समेत झारखंड के जिलों में डेढ़ माह में प्याज की कीमत में 20 रुपए की बढ़ोतरी हुई है। प्रयागराज में प्याज की कीमत पिछले डेढ़ माह से लगातार बढ़ रही है। फुटकर प्याज इस समय 50 से 55 रुपए किलो और थोक में 3500 से 4200 रुपए कुंतल मे बिक रही है।

मार्च से कम हो सकती है कीमत
प्याज कारोबारियों के अनुसार, प्याज की कीमत कम होने में 10 से 15 दिन का समय लग सकता है। नासिक में गुरुवार को बारिश के साथ ओले पड़े हैं। अब खेत सूखने में 10-15 दिन लग जाएंगे। ऐसे में माना जा रहा है कि नासिक के प्याज के लिए मार्च तक का इंतजार करना पड़ेगा। इसके बाद ही कीमत में कमी आ सकती है।