टीम इंडिया के ऑलराउंडर यूसुफ पठान ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास की घोषणा की

टीम इंडिया के ऑलराउंडर यूसुफ पठान ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया है। उन्होंने अपने सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट करके इस बात की जानकारी दी है।  यूसुफ ने भारत के लिए 57 वनडे और 22 टी20 मैच खेले और वह 2007 में आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप में चैंपियन बनी टीम इंडिया का हिस्सा रहे। यूसुफ पिछले काफी सालों से टीम इंडिया से बाहर चल रहे थे और आईपीएल में भी किसी फ्रेंचाइजी ने उनको टीम में शामिल करने में दिलचस्पी नहीं दिखाई थी।

यूसुफ पठान ने अपने रिटायरमेंट की जानकारी देते हुए ट्विटर पर लिखा, ‘मैं अपनी फैमिली, फैन्स, दोस्त, टीमें कोचों और पूरे देश को दिल से सपोर्ट और प्यार देने के लिए धन्यवाद कहना चाहता हूं।’ यूसुफ ने अपने इंटरनेशनल क्रिकेट करियर की शुरुआत 2007 में पाकिस्तान के खिलाफ खेले टी20 मैच से की थी। इसके बाद यूसुफ ने साल 2008 में पाकिस्तान के खिलाफ ही अपना पहला वनडे मुकाबला भी खेला। यूसुफ पठान साल 2011 में खेले गए विश्व कप में भी टीम इंडिया का हिस्सा रहे थे। बड़ौदा के इस ऑलराउंडर ने साल 2012 के बाद कोई भी इंटरनेशनल मैच नहीं खेला। आईपीएल में भी यूसुफ का प्रदर्शन काफी शानदार रहा था और इंडियन प्रीमियर लीग के पहले सीजन में राजस्थान रॉयल्स को चैंपियन बनाने में ऑलराउंडर ने बड़ी भूमिका निभाई थी।

यूसुफ ने अपने वनडे करियर में खेले 57 मैचों की 41 पारियों में 27 की मामूली औसत से 810 रन बनाए और 33 विकेट झटके। वहीं, टी20 फॉर्मेट में इस ऑलराउंडर का प्रदर्शन बढ़िया रहा और उन्होंने 22 मैचों की 18 पारियों में 146.58 के स्ट्राइक रेट से 236 रन बनाए, जबकि गेंदबाजी में 13 विकेट अपने नाम किए। आईपीएल में यूसुफ कोलकाता नाइटराइडर्स और राजस्थान रॉयल्स जैसी शानदार टीम का हिस्सा रहे। यूसुफ पठान ने आईपीएल 2010 में मुंबई इंडियंस के खिलाफ महज 37 गेंदों में शतक जड़ा, जो अभी तक टूर्नामेंट का दूसरा सबसे तेज शतक भी है। यूसुफ साल 2019 में सनराइजर्स हैदराबाद की तरफ से खेलते हुए नजर आए थे।