लालू यादव की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, चारा घोटाला के सबसे बड़े केस में फैसला करीब, 9 मार्च को शुरू होगी अंतिम बहस

बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री और राष्‍ट्रीय जनता दल के प्रमुख लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। चारा घोटाला मामले में उनके और अन्‍य के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत में चल रहे केस की सुनवाई अंतिम दौर में पहुंच चुकी है। डोरंडा कोषागार से जुड़े इस मामले में 1995-96 के दौरान 139 करोड़ रुपए से अधिक की अवैध निकासी की गई थी। 

सीबीआई के वरिष्‍ठ अधिवक्‍ता बीएमपी सिंह ने बताया कि इस मामले में मंगलवार से रांची स्थित सीबीआई की विशेष अदालत में अंतिम दौर की बहस शुरू होनी थी। हालांकि रांची जिला अदालत में कुछ वकीलों के कोरोना पॉजीटिव पाए जाने के चलते अदालतों में फिजिकल सुनवाई इस हफ्ते के लिए स्‍थगित कर दी गई। इस वजह से मंगलवार को चारा घोटाला मामले की सुनवाई नहीं हो सकी। अब अगले मंगलवार यानी नौ मार्च को शुरू होगी। उन्‍होंने बताया कि अंतिम बहस की प्रक्रिया शुरू होना इस बात का संकेत है कि जल्‍द ही इस मामले में फैसला करीब है। उन्‍होंने कहा कि कोविड-19 महामारी की वजह से कोर्ट पूरी तरह से नहीं चल पा रही है फिर भी हमें उम्‍मीद है कि दो से तीन महीने में फैसला आ सकता है। 

सीबीआई ने 1996 में अलग-अलग कोषागारों से गलत ढंग से अलग-अलग राशियों की निकासी को लेकर 53 मुकदमे दर्ज किए थे। ये रुपयों को संदिग्‍ध रूप से पशुओं और उनके चारे पर खर्च होना बताया गया था। उन 53 मामलों में से यह मामला आरसी 47 (ए)/ 96 सबसे बड़ा जिसमें सर्वाधिक 170 आरोपित शामिल हैं। इस मामले में सर्वाधिक 139 करोड़ रुपए की भारी भरकम राशि की अवैध निकासी की गई थी। मामले में अभियोजन पक्ष के गवाहों की संख्‍या भी सबसे अधिक 585 है। 

सीबीआई ने 170 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट फाइल की थी लेकिन पूर्व मुख्‍यमंत्री जगरनाथ मिश्रा सहित 70 की मुकदमे की सुनवाई के दौरान मौत हो गई। वर्तमान में सिर्फ 110 आरोप ट्रॉयल का सामना कर रहे हैं जिनमें पूर्व मुख्‍यमंत्री लालू प्रसाद यादव शामिल हैं। चारा घोटाला के तीन अलग-अलग मामलों में सजा सुनाए जाने के बाद 23 दिसम्‍बर 2017 से राजद प्रमुख लालू यादव जेल की सजा काट रहे हैं। हालांकि उन्‍हें दो मामलों में जमानत मिल चुकी है। तीसरे मामले में उनकी जमानत याचिका को हाल ही में हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया था। इस वक्‍त वह बीमार हैं। हिरासत में रहते हुए एम्‍स नई दिल्‍ली में उनका इलाज चल रहा है।