आंगनवाड़ी वर्करों की भर्ती को लेकर 9 मार्च को राज्यव्यापी हड़ताल करेगा CITU

 

Demand for Anganwadi Worker Recruitment: सेंटर ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियन्स (CITU) की हिमाचल प्रदेश कमिटी प्री प्राइमरी स्कूलों में आंगनवाड़ी वर्करों की भर्ती किए जाने की मांग लेकर 9 मार्च को राज्यव्यापी हड़ताल करेगा।

सीआईटीयू हिमाचल प्रदेश से जुड़े ऑल इंडिया आंगनवाड़ी फेडरेशन और हेल्पर्स (AIFAWH) ने इस संबंध में राज्य के महिला एवं बाल विकास मंत्रालय को नोटिस भेजा है। संगठन के बयान के अनुसार, कार्यकर्ता विधानसभा के गेट के सामने प्रदर्शन करेंगे।

केंद्रीय अध्यक्ष नीलम जैसवाल, महासचिव वीणा देवी और अन्य यूनियन सदस्यों ने केंद्र व राज्य सरकारों चेतावनी दी है कि यदि सरकार आंगनवाड़ी वर्करों की भर्ती के लिए आदेश जारी नहीं करती तो राज्य भर की आंगनवाड़ी वर्कर्स 9 मार्च को राज्य में सभी आंगनवाड़ी केंद्रों को बंद कर देंगी।

हिमाचल प्रदेश सीटू इकाई ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को वापस लेने की भी मांग उठाई है। संगठन ने कहा है कि नई शिक्षा नीति न सिर्फ छात्र विरोधी है बल्कि महिला (आईसीडीएस) के खिलाफ भी है। यूनियन ने दावा किया, ‘नई शिक्षा नीति का आईसीडीएस को प्राइवेटाइज करने का एक छिपा एजेंडा है। भविष्य में इससे आंगनवाड़ी वर्करों को अपनी नौकरियां गंवानी होगी।’

यूनियन ने आंगनवाड़ी वर्कर्स को नियमित करने की मांग की और 2013 में हुई 15वीं लेबर कन्फ्रेंस की अनुशंसा लागू करने की मांग की। उन्होंने मांग की कि आंगनवाड़ी वर्करों को हरियाणा की तरह ही वेतन और अन्य सुविधाएं दी जानी चाहिए।