पेरेंट्स के घर मे रहकर HRA पर छूट ले बचा सकते हैं टैक्स, जानें माता-पिता कैसे बचा सकते हैं टैक्स

कर बचाने के लिए लोग आयकर की धारा 80सी का ज्यादा इस्तेमाल करते हैं। इसके तहत 1.5 लाख रुपये के किए निवेश पर कर छूट मिलती है। आमतौर पर लोग बीमा पॉलिसी, पीपीएफ और सावधि जमा (एफडी) में निवेश कर 80सी के तहत कर छूट पाते हैं। हालांकि, इसके इतर भी कई ऐसे माध्यम हैं जिसके तहत आप आयकर से बचत कर सकते हैं। क्या आपको पता है कि आपके माता-पिता भी आपको टैक्स बचाने में मदद कर सकते हैं। हम आपको उन तीन तरीकों के बारे में बता रहे हैं जिसके जरिये आपके माता-पिता आपकी टैक्स बचाने में मदद कर सकते हैं।

1. माता-पिता के नाम पर निवेश

आयकर से बचने के लिए आप अपने माता-पिता के नाम पर सावधि जमा (एफडी) खोल सकते हैं। आप उन्हें पैसा गिफ्ट में देकर कर की बचत कर सकते हैं। खास तरह के रिश्‍तेदारों को मॉनेटरी गिफ्ट टैक्‍स के दायरे में नहीं आता है। यह पैसा वरिष्ठ नागरिक बचत योजना, डाकघर बचत योजना या एफडी में निवेश किया जा सकता है। वरिष्ठ नागरिकों को किसी वित्त वर्ष में एफडी, बचत स्‍कीमों इत्‍यादि से कमाए गए ब्‍याज पर 50,000 रुपये तक छूट मिलती है। धारा 80टीटीबी के तहत सीनियर सिटीजन एक वित्तीय वर्ष के दौरान कई फिक्स्ड डिपॉजिट से 50,000 रुपये तक का ब्याज कर मुक्त कमा सकते हैं। 60 साल से अधिक की उम्र के लोग वरिष्ठ नागरिकों में आते हैं। इससे कम उम्र के लोगों के लिए यह छूट 10,000 रुपये तक है। अगर ब्‍याज एग्‍जेम्‍पशन लिमिट से ज्‍यादा भी हो जाता है तो भी उनकी टैक्‍स देनदारी कम ही रहती है।

2. घर का किराया भुगतान कर

अगर आप नौकरीपेशा हैं और माता-पिता के साथ उनके बनाए घर में रहते हैं तो कंपनी से मकान किराया भत्ता (एचआरए) छूट का दावा कर सकते हैं। माता-पिता के आयकर के दायरे में न होने या निचले टैक्‍स ब्रैकेट में होने पर यह मददगार होता है। यहां ध्‍यान देने वाली बात यह है कि अगर किराया 1 लाख रुपये से ज्‍यादा है तो उनके पैन कार्ड और अन्‍य डिटेल्‍स को साझा करना होगा। हालांकि इसके लिए जरूरी है कि वह घर आपके माता-पिता के नाम पर हो और उसमें आप मालिकाना हक न हो। मकान किराया आपके पैरेंट्स की आय में जोड़ी जाएगी और इस पर उन्हें टैक्स स्लैब के हिसाब से कर चुकाना होगा।

3. माता-पिता के लिए बीमा पॉलिसी खरीद कर

अपने माता-पिता के लिए हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम का भुगतान करने पर भी आप टैक्स बचा सकते हैं। अगर माता-पिता की उम्र 60 साल से ज्‍यादा है और आप हेल्‍थ इंश्‍योरेंस खरीदते हैं तो उसके प्रीमियम पर आप 50,000 रुपये तक कर छूट पा सकते हैं। वहीं, माता-पिता की उम्र 60 साल से कम है तो यह रकम 25,000 रुपये होगी।