स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने किया AIIMS का दौरा, डॉक्टरों के संग बनाई कोरोना के खिलाफ रणनीति

देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामलों के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने आज एम्स के ट्रामा सेंटर का दौरा किया और वहां स्वास्थ्य सुविधाओं का जायज़ा लिया। इस दौरान उनके साथ एम्स के निदेशक डॉ.रणदीप गुलेरिया भी मौजूद रहे। मीडिया को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा देशभर में मामलों की संख्या बढ़ रही है। मैं अस्पतालों में जाकर डॉक्टरों से बात करके ये जानने की कोशिश कर रहा हूं कि हमें और क्या तैयारियां करने की जरूरत है।

एम्स पहुंचे केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि 2021 में 2020 के मुकाबले भले ही मामलों की संख्या बढ़ रही है, उसकी गति तेज़ है। लेकिन 2021 में आपके (डॉक्टरों) पास कई सौ गुना ज़्यादा अनुभव है और हम बीमारी की गंभीरता को अच्छी तरह समझ चुके हैं। हमारे पास आज पहले के मुकाबले ज़्यादा आत्मविश्वास है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, ”हम अब हर चीज से लैस हैं। हम सभी तकनीकों और दिशानिर्देशों को जानते हैं। एकमात्र चुनौती यह है कि कोरोना के मामलों में हालिया उछाल को कैसे दूर किया जाए।”

भारत में संक्रमण के एक दिन में सर्वाधिक 2,17,353 नए मामले
भारत में कोविड-19 के एक दिन में रिकॉर्ड 2,17,353 नए मामले सामने आने के बाद देश में अब तक संक्रमित हो चुके लोगों की कुल संख्या बढ़कर 1,42,91,917 हो गई है और इस बीमारी का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या 15 लाख के पार चली गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के शुक्रवार आठ बजे के अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, संक्रमण से 1,185 और लोगों की मौत होने के बाद कुल मृतक संख्या बढ़कर 1,74,308 हो गई है। देश में 19 सितंबर, 2020 के बाद से एक दिन में सर्वाधिक लोग मारे गए हैं।

संक्रमण के मामलों में लगातार 37वें दिन वृद्धि हुई है। देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 15,69,743 हो गई है जो संक्रमण के कुल मामलों का 10.98 प्रतिशत है जबकि स्वस्थ होने वाले लोगों की दर गिरकर 87.80 प्रतिशत रह गई है। सबसे कम 1,35,926 उपचाराधीन मरीज 12 फरवरी को थे।  इस बीमारी से स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 1,25,47,866 हो गई है और मृत्यु दर गिरकर 1.22 प्रतिशत हो गई है।

भारत में कोविड-19 के मामले सात अगस्त को 20 लाख का आंकड़ा पार कर गए थे। इसके बाद संक्रमण के मामले 23 अगस्त को 30 लाख, पांच सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख के पार चले गए थे। वैश्विक महामारी के मामले 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख और 19 दिसंबर को एक करोड़ का आंकड़ा पार कर गए थे।