महाराष्ट्र: बाज नहीं आ रहे लोग, लॉकडाउन के बावजूद बाजारों में दिखी भारी भीड़

नागपुर-

कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने देश का हाल बेहाल किया हुआ है। रोजाना संक्रमण के 3 से 4 लाख मामले डरा रहे हैं। साथ ही हर दिन हजारों लोगों की मौत की खबरें भी लगतार आ रही हैं। इस बीच कई राज्यों ने अपने यहां लॉकडाउन व अन्य प्रतिबंध लगाए हैं। इसी कड़ी में महाराष्ट्र में भी राज्य सरकार ने 15 मई तक के लिए लॉकडाउन लगाया गया है। लेकिन इस लॉकडाउन के बीच भी नागपुर की सड़कों पर जो नजारा देखने को मिला वह हैरान करने वाला था। दरअसल यहां लॉकडाउन के बावजूद बाजारों में भारी भीड़ देखने को मिली।

सामने आई बाजार की इन तस्वीरों से साफ है कि स्थिति इतनी विकराल होने के बावजूद लोग इस बीमारी को गंभीरता से नहीं ले रहे। ऐसे में वे अपने साथ-साथ अपने परिवारों को भी जोखिम में डाल रहे हैं।

बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर नें चिंता बढ़ा दी है। देश में पांचवीं बार चार लाख से ज्यादा कोरोना के मामले आए हैं और यह लगातार चौथी बार है जब भारत में कोरोना के मामले चार लाख से ऊपर आए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के लेटेस्ट आंकड़ों की माें तो पिछले 24 घंटे के दौरान देश में रिकॉर्ड 4133 लोगों की मौतें हुई हैं और इसी दौरान 409,300 नए मामले सामने आए हैं। इस तरह से देश में अब तक कुल 2,42,398 लोगों की संक्रमण से मौत हो चुकी है। जबकि 2,22,95,911 लोग अब तक संक्रमित हो चुके हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में रोजाना करीब एक लाख से ज्यादा सक्रिय मरीजों का इजाफा देखने का मिल रहा है। इधर बढ़ते मामलों के बीच स्वस्थ होने वाले मरीजों की दर में कमी ने संकट को और बढ़ा दिया है। देश में कोरोना से ठीक होने की दर गिरकर 81.90 फीसदी पर पहुंच गई। इस दौरान 3,86,207 मरीज संक्रमण से उबरे। वहीं एक अप्रैल को मरीजों के ठीक होने की दर 93.89 फीसदी थी।