कोरोना महामारी में सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को लेकर विवाद के बीच छत्तीसगढ़ में रुका नई विधानसभा का निर्माण कार्य

कोरोना महामारी के बीच छत्तीसगढ़ सरकार ने नए विधानसभा भवन के निर्माण कार्य पर रोक लगा दी है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट कर इसकी सूचना दी। बता दें कि दिल्ली में जारी केंद्र के सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट का बचाव बीजेपी छत्तीसगढ़ विधानसभा के निर्माण कार्य का हवाला देकर ही कर रही थी।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट किया, ‘हमारे नागरिक-हमारी प्राथमिकता..कोरोना काल से पहले प्रदेश में नए विधानसभा भवन, राजभवन, मुख्यमंत्री निवास, मंत्रीगणों व वरिष्ठ अधिकारियों के आवास, नए सर्किट हाउस इत्यादि के निर्माण कार्य का शिलान्यस किया गया था। आज संकट के समय में इन सभी निर्माण कार्य पर रोक लगाई जाती है।’

छत्तीसगढ़ सरकार के इस फैसले के बाद केंद्र सरकार पर दिल्ली में बन रहे ‘सेंट्रल विस्टा’ पर रोक लगाने को लेकर दबाव बढ़ सकता है। कांग्रेस समेत सभी प्रमुख विपक्षी दल दिल्ली के ‘सेंट्रल विस्टा’ प्रोजेक्ट पर रोक लगाने की मांग कर रहे हैं।

छत्तीसगढ़ में नए विधानसभा भवन के लिए बीते साल 28 अगस्त को भूमि पूजन किया गया था। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इसका शिलान्यास किया था।

वहीं, दिल्ली में कोरोना के रिकॉर्डतोड़ मामलों के बीच भी सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के काम को जारी रखने पर केंद्र सरकार को आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। दिल्ली हाई कोर्ट में इस प्रोजेक्ट का काम तत्काल रोकने संबंधी याचिका भी दायर की गई है। सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सेवाओं के दायरे में रखा गया है।

केंद्र सरकार ने अपने बचाव में हाई कोर्ट से कहा है कि यह याचिका परियोजना को रोकने की कोशिश है और यह कानून की प्रक्रिया का सरासर दुरुपयोग है। केंद्र ने कहा कि परियोजना पर काम जारी रखने की इच्छा व्यक्त करने वाले 250 श्रमिकों के लिए कार्यस्थल पर ही एक कोविड सुविधा स्थापित की गई है।