चमोली हादसा: ऋषिगंगा के ग्लेशियर पर आई दरार का सर्वे, यह हुआ खुलासा

चमोली

उत्तराखंड के चमोली जिले के रैणी की ऋषि गंगा के शीर्ष की ग्लेशियर में आयी दरारों के मामले में वैज्ञानिकों की एक टीम ने शनिवार को हेलीकॉप्टर से क्षेत्र का हवाई सर्वेक्षण किया। वैज्ञानिकों की टीम शासन को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी। जोशीमठ से आईटीबीपी और एसडीआरएफ की संयुक्त टीम भी ग्लेशियरों की स्थिति का पता लगाने के लिए रवाना हो गई है। टीम दो दिन बाद जोशीमठ लौटेगी। 26 मई  को रैणी गांव के ग्रामीणों ने ऋषि गंगा के उद्गम स्थल का भ्रमण किया था। ग्रामीणों ने देखा कि ऋषि गंगा क्षेत्र में ग्लेशियरों में दरारें पड़ी हैं, जिस पर उन्होंने इसकी सूचना जिला प्रशासन को दी। प्रशासन ने शासन से वैज्ञानिकों की टीम के द्वारा ग्लेशियरों के सर्वेक्षण का आग्रह किया था।  जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने बताया कि शनिवार को वैज्ञानिकों की टीम ने ग्लेशियरों का निरीक्षण किया है और टीम देहरादून लौट गई है।