केदारनाथ:बाबा के दर्शन को 12 दिन की वेटिंग, एडवांस बुकिंग हुई फुल

केदारनाथ धाम के दर्शन के लिए अगले 12 दिन तक बुकिंग फुल हो गई है। बाबा केदार के दर्शन के लिए रजिस्ट्रेशन कराने वाले श्रद्धालुओं के लिए  शनिवार को 10 हजार 10 ई पास जारी किए गए हैं। केदारधाम में प्रतिदिन केवल 800 लोगों को ही जाने की अनुमति है। इस हिसाब से अब रजिस्ट्रेशन कराने वाले श्रद्धालुओं को आने वाले 12 दिन तक इंतजार करना होगा। जबकि बदरीनाथ धाम के लिए करीब पांच दिन का इंतजार करना होगा।

हाईकोर्ट की अनुमति के बाद आज शुरू हुई चारधाम यात्रा को लेकर श्रद्धालुओं में भी भारी उत्साह नजर आ रहा है। पहले दिन बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम में 700 से ज्यादा श्रद्धालुओं ने दर्शन किए।  लेकिन चारों धामों में सबसे ज्यादा आकर्षण भगवान शिव के धाम केदारनाथ को लेकर ही दिखाई दिया है। देवस्थानम बोर्ड ने शनिवार शाम तक दिए गए ई-पास की संख्या जारी की। चारों धाम के लिए आज पहले दिन 19 हजार 491 ई पास जारी किए गए हैं।

आपको बता दें कि  हाईकोर्ट नैनीताल ने चारधाम यात्रा पर लगी रोक हटाने के बाद शनिवार 18 सितंबर से शुरू हुई यात्रा में श्रद्धालुओं की भीड़ देखी गई। प्रदेश सहित बाहरी राज्यों ने बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री धाम में श्रद्धालुओं ने दर्शन किए। कोविड से जुड़े प्रतिबंधों के साथ यात्रा शुरू होते ही तीर्थ यात्रियों में खासा जोश दिखाई दिया।केदारनाथ-बदरीनाथ सहित चारधाम यात्रा के लिए भले ही रोजाना पहुंचने वाले तीर्थयात्रियों की संख्या तय कर दी गई हो, पर यदि कोई यात्री रात को धामों में रुकना चाहे तो रुक सकता है।

धामों के लिए जारी ई पास
धाम            अनुमति     ई पास

केदारनाथ          800         10,010
बदरीनाथ         1000      4830
गंगोत्री            600         2,375
यमुनोत्री           400     2,276
जगह जगह कोविड जांच के पुख्ता इंतजाम
भगवान बदरीनाथ के दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं के स्वास्थ्य जांच के लिये जिले के प्रवेश द्वार गौचर, मोहन खाल , मेहलचौरी से ही बैरियर पर कोविड जांच की व्यवस्था की गई है। पांडुकेश्वर में भी कोविड जांच यात्रियों की जांच हो रही है । हेमकुंड जाने वाले यात्रियों की भी कोविड जांच की जा रही है। बदरीनाथ आने वाले यात्रियों कोविड प्रपत्रों की जांच देवदर्शनी में भी हो रही है। उधर,केदारनाथ के दर्शन के लिए जाने वाले महाराष्ट्र, केरल और आंध्रप्रदेश के श्रद्धालुओं के लिए सोनप्रयाग में आरटीपीसीआर कोविड टेस्ट की अलग से व्यवस्था की है।