परोपकाराय संता विभूते –श्री राम महाराज

(अजय शेखर सेदावत)
ब्रह्मलीन संत की तेरहवीं पर महाभंडारे में शामिल हुए बड़े बड़े संत व भक्तों ने पाई पंगत प्रसादी।
बौंली—उपखंड मुख्यालय स्थित श्री खेड़ापति हनुमान मंदिर के ब्रह्मलीन संत श्री सीताराम दास त्यागी जी महाराज के देवलोक गमन के पश्चात शुक्रवार को उनकी त्रयोदशी पर महाभंडारे का आयोजन किया गया। इसमें देश व प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों से पधारे संतों सहित सैंकड़ों भक्त श्रद्दालुओं ने पंगत प्रसादी ग्रहण की।इस अवसर पर मित्रपुरा योगाश्रम से पधारे संत श्री राम जी महाराज ने अपने सारगर्भित प्रवचनों में परोपकाराय संता विभूते की व्याख्या करते हुए संत महिमा से उपस्थित श्रद्धालुओं को अवगत कराया। गौरतलब है कि गत चार जून को खेड़ापति हनुमान मंदिर के संत श्री सीताराम दास त्यागीजी महाराज का देवलोकगमन हो गया था ।जिस पर उनके शिष्यों द्वारा सभी के सहयोग से यहां भंडारा आयोजित किया गया था। इस भंडारे में शामिल होने के लिए हिमाचल प्रदेश से श्रीमंत श्री श्री राम नारायण दास जी महाराज ,श्रीमंत श्री श्री रमण दास जी महाराज पूर्वी चंपारण बिहार, श्री श्री रामकुमार जी बाबा बेल्लारी मठ नेपाल, शालिग्राम जी महाराज पूर्वी चंपारण बिहार ,रामविलास जी लखौरा ,त्रिवेणी धाम के महाराज व उज्जैन मध्य प्रदेश सहित सवाई माधोपुर, टोंक, दोसा जिले के कई संत पधारे व प्रसादी ग्रहण की। इस अवसर पर महाराज के शिष्य राम किशन गुर्जर एडवोकेट, बालाजी पुजारी आचार्य हेमराज दीक्षित ,बालाजी विकास सेवा समिति के सभी सदस्यों ने आगंतुक संत महात्माओं को भेंट अर्पण कर विदाई दी।