जयस ने कांग्रेस से मांगी 4 सीटे, नाथ बोले- मंत्री बन गए हो तो हवा में उड़ रहे हो

भोपाल: विधानसभा के बाद लोकसभा चुनाव में भी जयस ने कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। जयस ने कांग्रेस से चार सीटों (धार, खरगोन, बैतूल और रतलाम सीट ) की मांग की है और मांग पूरी ना होने पर बीजेपी में शामिल होने की धमकी दी है। चुनाव से पहले कांग्रेस के लिए जयस चुनौती बन गया है, ऐसे में आदिवासी सीटों पर जीत हासिल करने की डगर कठिन होती नजर आ रही है। जयस के इस सख्त रवैए के बाद कांग्रेस में हड़कंप की स्थिति है। इसी के चलते गुरुवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आनन-फानन में आदिवासी विधायकों की बैठक बुलाई और सभी से दो टूक शब्दों में कहा हर हाल में जयस को मनाओ और गोंडवाना समेत अन्य बागियों को अपने साथ मिलाओ। वहीं आदिम जाति कल्याण मंत्री ओमकार मरकाम को भी कड़ी फटकार लगाते हुए नाथ ने कहा कि टमंत्री बन गए हो तो उड़ रहे हो। जमीन पर पैर ही नहीं हैं, क्या ऐसे हम आदिवासी सीटें जीतेंगें’।

जयस ने कांग्रेस के खिलाफ खोला मोर्चा
दरअसल, विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ाने वाले आदिवासियों के युवा संगठन यानी जयस ने अब लोकसभा चुनाव में मोर्चा खोल दिया है। जयस ने फिर चार आदिवासी सीटों की मांग की है। मनावर से कांग्रेस विधायक और जयस संरक्षक हीरालाल अलावा ने कमलनाथ से मुलाकात कर दो टूक कह दिया है कि उन्हें चार लोकसभा सीटों से टिकट चाहिए। ये टिकट किसी आदिवासी युवा को मिलना चाहिए, साथ ही उन्होंने चेतावनी दी है कि अगर कांग्रेस ने उन्हें ये चार टिकटे नहीं दी वे अन्य किसी दल में शामिल हो जाएंगें।उनके लिए हर दल के दरवाजे खुले है।वही इस बात का फायदा उठाकर बीजेपी ने जयस पर डोरे डालना शुरु कर दिया है।

बीजेपी नेताओं ने दिया ऑफर
सुत्रों के अनुसार, अलावा को बीजेपी की तरफ से खुला ऑफर दिया गया है। खुद अलावा ने इस बात के संकेत दिए है। अलावा ने बताया है कि बीजेपी के कई दिग्गज नेताओं ने भी उन्हें बातचीत का प्रस्ताव दिया है। वहीं गोंडवाना ने भी 2 सीटों की मांग के बाद समर्थन देने की बात कही है। जयस की इस धमकी के बाद कांग्रेस मे हड़कंप मच गया है। इसी के चलते गुरुवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आदिवासी विधायकों की बैठक बुलाई गई और उन्हें हर हाल में जयस और गोड़वाना पार्टी को मनाने को कहा गया।