मिशन पिंक हेल्थ कार्यक्रम

आशीष गुप्ता, रामगढ
आज दिनांक 15 मार्च 2019 को मोराम कला में एक इंस्टीट्यूट ( सक्षम कौशल विकास केंद्र,कांके बार) में मिशन पिंक हेल्थ कार्यक्रम किया गया जिसमें लगभग 300 किशोरी बच्चियों का हिमोग्लोबिन की जांच की गई जिसमें 12 ग्राम से ऊपर लगभग 87% बच्चों का हिमोग्लोबिन पाया गया । मिशन पिंक हेल्थ की को चेयर पर्सन डॉक्टर सांत्वना शरण ने बच्चियों को मासिक धर्म के समय होने वाली बीमारियां एवं उससे होने वाली एनीमिया के बारे में विस्तारपूर्वक उनकी पूरी टीम ने बताया जिसमें डॉक्टर निर्मला नाग ने खान पीन के बारे में, डॉक्टर निधि बजाज एनीमिया और उससे बचाव के बारे में और डॉक्टर अनुपम सिंह महामारी के समय अपने आप को कैसे इनफेक्शन मुक्त रहे उनके बारे में विस्तार से बताया और indian medical association रामगढ़ के सेक्रेटरी डॉ मृत्युंजय सिंह ने शैच से आने के बाद और खाना खाने के पहले अपने हाथो की सफाई कैसे करें ताकि इनफेक्शन जो कीड़ों के द्वारा होती है वह ना हो साथ में डॉक्टर सांत्वना शरण ने लड़कियों को पुरुषों के द्वारा एक स्पर्श जो गुड टच और बैढ टच होता है उससे संबंधित लड़कियों को जागरूक किया एवं झारखंड से किशोरी बच्चियों का पलायन जो हो रहा है उसके बारे में डॉक्टर शरण ने बताया और मां के कोख में लड़कीभ्रूण की हत्या की जाती है उसके बारे में भी लड़कियों को जानकारी देते हुए उन्होंने प्रत्येक लड़कियों से यह आह्वान किया कि आप अपने अपने घरों में जाकर कम से कम एक लड़की पांच लड़कियों को इन सभी बातों के बारे में जागरूक करें ताकि मेरा समाज इन सभी बीमारियों से ग्रस्त है वह ना रहे और एक अच्छी मां बन कर अपने समाज और देश को मजबूत करें। आज इस मिशन पिंक का 24 वा कैंप रामगढ़ जिले के कांके बार में लगाया गया