लापरवाही का कीचड़ : कॉटन मार्केट स्क्वेयर पर फिसलते रहे वाहन चालक

निताबेनिबॉगडे 

नागपुर। कॉटन मार्केट चौंक पर शनिवार की रात एक के बाद कई वाहनधारक संतुलन बिगड़ने से धड़ा-धड़ गिरते रहे। इसमें कुछ महिला वाहन चालक भी  थीं। दरअसल, कॉटन मार्केट चौक परिसर में संतरा मार्केट तक मेट्रो की राह बनाई जा रही है। यहां पिलर लगाने का काम चल रहा है। हालांकि इस निर्माणकार्य के दौरान चौक पर पाइप लाइन आने से काम को रोका गया था। मेट्रो के अनुसार, इस पाइप लाइन को शिफ्ट करने का जिम्मा ओसीडब्ल्यू को दिया गया था, लेकिन ओसीडब्ल्यू का कहना है कि इस काम का हमसे कोई संबंध नहीं है। ओसीडब्ल्यू की एक टीम ने वहां का निरीक्षण किया है। वहां कोई पाइपलाइन नहीं है। ड्रेनेज लाइन वहां से गुजर रही है। उसी का पानी वहां जमा हो रहा है। फिलहाल मेट्रो के आरोप-प्रत्यारोप से अब विकट स्थिति निर्माण हो गई है। पानी सड़क पर बह रहा है। निर्माणकार्य के कारण पहले से जमा मिट्टी में पानी मिलने से सड़क पर कीचड़ बहने लगा। गाड़ियों के आवागमन के बाद यह जगह फिसलन भरी हो गई।  यहां से गुजरनेवाले वाहन चालक गाड़ी पर नियंत्रण नहीं बना पा रहे थे।
जिम्मेदारों ने फोड़ा एक-दूसरे पर ठीकरा

डीजीएम महा मेट्रो अखिलेश हलवे के मुताबिक कॉटन मार्केट चौक पर मेट्रो का पिलर बन रहा है। यहां एक पीने की पाइप लाइन आने से इसे हटाने की जिम्मेदारी ओसीडब्ल्यू को दी थी। उनकी ओर से काम ठीक नहीं होने से पाइप लीक रह गया। इससे पानी सड़क पर बहा।

ओसीडब्ल्यू पीआरओ सचिन द्रवेकर के मुताबिक इसका ओसीडब्ल्यू से कोई संबंध नहीं है। जहां गड्ढा खोदा गया, वहां ड्रेनेज लाइन है। ड्रेनेज फूटने के कारण पानी जमा हो रहा है। पूर्व नगरसेवक मनोज साबले ने बताया कि मेट्रो के निर्माणकार्य के दौरान जमा पानी सड़क पर आने से ऐसी स्थिति पैदा हुई।