किसान सम्मेलन के लिए तोड़ी दीवार, खुले में ही पड़ा अनाज

सुवासरा

निलाद्री राय 

कर्ज माफी योजना के तहत किसानों को ऋण माफी प्रमाण-पत्र बांटने के लिए 27 फरवरी से 1 मार्च के बीच तहसील स्तर पर किसान सम्मेलन किए थे।

28 फरवरी को कृषि उपज मंडी में आयोजित किसान सम्मेलन में जलसंसाधन व प्रभारी मंत्री हुकुमसिंह कराड़ा भी पहुंचे थे। सम्मेलन में किसानों की संख्या को देखते हुए प्रशासन ने मंडी की दीवार तक तुड़वा दी थी। अब उपज लेकर मंडी जाने वाले किसानों को खुले में अनाज रखना पड़ रहा है। दीवार टूटने के बाद मंडी में रखा अनाज चोरी न होने हो, इसके लिए किसान दहशत में रात-दिन रखवाली में लगे रहते हैं।

तहसीलदार आर.के. अहिरवार का कहना है कि मुझे आए एक-दो दिन ही हुए हैं। किसान सम्मेलन को लेकर कृषि मंडी की दीवार तोड़ने की जानकारी मुझे नहीं हैं। अगर ऐसा है तो किसानों की समस्या को देखते हुए मंडी प्रशासन से जल्द निर्माण करवाया जाएगा। उपज की रखवाली के लिए चौकीदार की व्यवस्था की जाएगी।