चाेरी के आरोपी नहीं पकड़े जाने से व्यापारियों में आक्रोश

महेशचन्द्र मीणा 

रामगढ़ कस्बे के मुख्य बाजार में एक ज्वैलर की दुकान की दीवार तोड़कर लाखों रुपए कीमत का सोना व चांदी के जेवरात चाेरी होने की घटना को लेकर अब व्यापारियों में पुलिस के खिलाफ आक्रोश गहराता जा रहा है। घटना के सोलह दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली होने के बाद दो दर्जन से अधिक व्यापारी व कस्बे के प्रमुख कांग्रेसजन रविवार को रामगढ़ थाना पहुंचे। यहां आक्रोशित व्यापारियों ने थानाधिकारी भरत महर से मिलकर नाराजगी जाहिर की। एक मार्च की रात कस्बा निवासी चिम्मनलाल उर्फ झम्मन सोनी की दुकान में हुई लाखों रुपए की चाेरी के आरेापियों के नहीं पकड़े जाने पर प्रतिनिधिमंडल के साथ रामगढ़ थाना पहुंचे ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष विमल जैन ने कहा कि जब सीसीटीवी में चाेरी कर रहे आरेापियों की फोटो भी पुलिस को सौंप दी हैं तो चोर क्यों नहीं पकड़े जा रहे। इस केश में पुलिस को आरेापियों की फोटो सहित चाेरी की वारदात की वीडियो उपलब्ध करवा दी हैं। उसके बावजूद चाेरी के आरेापियों का पकड़ा नहीं जाना स्थानीय पुलिस सहित जिला पुलिस के अधिकारियों की नाकामी का दर्शाती हैं। जबकि घटना के बाद जिला पुलिस के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुरेश खींची से लेकर कई अधिकारी व डाॅग स्क्वायड की मदद ली गई थी। उसके बावजूद आरोपी पुलिस की पकड़ से दूर हैं।

जनप्रतिनिधि नहीं दे रहे ध्यान : पूरे मामले को लेकर रामगढ़ कांग्रेस के प्रमुख कार्यकर्ता व पदाधिकारियों ने थानाधिकारी के समक्ष अपना विरोध प्रकट करते हुए हाॅल ही में चुने गए जनप्रतिनिधियों को निशाने पर लिया।पिछले दिनों पूर्व केन्द्रीय मंत्री भंवर जितेन्द्र सिंह के रामगढ़ आगमन पर ज्ञापन सौंपते हुए पुलिस पर दबाव बनाने का कस्बे के कांग्रेसियों ने आग्रह किया था।लेकिन जनप्रतिनिधियों की नजरअंदाजी से खफा कांग्रेसजनों व व्यापारियों ने रविवार को आगामी चुनाव में नेताओं को सबक सिखाने की सीधी धमकी दी है। इस दाैरान नेमीचंद, राकेश खंडेलवाल, चुन्नीलाल सोनी, अनिल गुप्ता, कूडू शर्मा, निर्मल जैन, दिनेश शर्मा, विमल चन्द जैन आदि मौजूद रहे।