MP में कुदरत का कहर, आसमानी बिजली गिरने से दो लोगों की मौत

भोपाल: मध्य प्रदेश में तेज बारिश के साथ ओले गिरने से किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें बढ़ गई है। मौसम के अचानक करवट बदलने से जहां एक ओर फसलों को भारी नुकसान हुआ है वहीं आकाशिय बिजली गिरने से दो लोगों की मौत भी हो गई। भोपाल समेत आस पास के इलाकों में रविवार को हलकी बारिश और बूंदाबांदी हुई। वहीं महाकौशल और विंध्य क्षेत्र के कई जिलों में मौसम ने करवट बदली है। रीवा, उमरिया, डिंडोरी, सीधी, सिवनी में तेज बारिश के साथ ओले गिरे हैं। डिंडोरी में तीसरे दिन लगातार तेज बारिश हुई और ओले गिरे हैं।

जानकारी के अनुसार, रविवार को रीवा, उमरिया के चंदिया और सिवनी में बारिश के साथ ओले गिरे, जिससे खेतों में खड़ी गेहूं और दलहन की फसल बिछ गई।  कटाई के बाद खलिहानों में रखी फसल भी भीग गई। आम और सरसों की फसल पर भी बुरा असर पड़ा है। बारिश और ओले से किसानों  डिंडौरी में झमाझम बारिश हुई। आसमान में अचानक बादल छा गए। इसके बाद तेज हवा के साथ बारिश हुई वहीं सिवनी में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से ग्राम  तिघरा निवासी 52 वर्षीयमस्तराम बघेल की मौत हो गई। जबकि सीधी में आकाशीय बिजली गिरने से चुरहट थाने के पंखुरी नंबर 586 की रहने वाली सीमा जयसवाल की मौत हो गई।

बता दें कि, इससे पहले भी यहां के कई इलाकों में दो घंटे तक ओले गिरे थे और सड़क से लेकर खेत तक ओले की सफेद चादर बिछ गई थी। बारिश और ओले से किसानों की चिंता बढ़ गई है।मौसम विभाग के अनुसार, देश के उत्तर पूर्वी हिस्से में आने वाले उमरिया, सिंगरौली, सीधी, डिंडोरी, अनूपपुर, मंडला और बालाघाट जिले में कुछ स्थानों पर बारिश और ओले गिरने की संभावना है। वहीं जबलपुर, सागर और भोपाल संभाग के जिलों में कहीं-कहीं यह स्थिति बन सकती है।