जोधपुर से सीकर-श्रीगंगानगर भी सप्लाई हुए दिमागी बुखार के नकली टीके

मनोहर कुमार पारीक 

सीकर. प्रदेशभर में बच्चों को दिमागी बुखार(मेनिनजाइटिस) से बचाने वाली नकली वैक्सीन पर कार्रवाई जारी है। सोमवार को जयपुर, श्रीगंगानगर व सीकर में औषधि नियंत्रक विभाग ने कई दवा व्यापारियों पर कार्रवाई की। सीकर में औषधि नियंत्रक विभाग ने शहर में 2 दवा प्रतिष्ठानों पर कार्रवाई की। दोनों जगह से नकली वैक्सीन का जखीरा जब्त किया।

यह नकली वैक्सीन जिले में 4 साल से सप्लाई की जा रही थी। एक टीके पर 5200 रुपए वसूले जा रहे थे। औषधि नियंत्रक विभाग के प्रारंभिक जांच में जिले में 83 हजार से बच्चों को यह नकली टीके लगाए जाने की जानकारी सामने आई है। औषधि नियंत्रक विभाग ने नकली वैक्सीन बेच रहे मेडि लाइफ और बेस्ट मेडिकल फर्म पर छापा मारा। दोनों जगह नकली वैक्सीन का जखीरा जब्त किया। टीम ने नकली वैक्सीन को फ्रीज कर दिया है।

दोनों जगह से टीमों ने बिल और अन्य दस्तावेज जब्त किए। बिलों की जांच की जा रही है। देर रात तक टीमें पता लगाने में जुटी थी कि दोनों व्यापारियों द्वारा कहां-कहां नकली वैक्सीन सप्लाई की जा रही थी। शुरुआती जांच में सामने आया है कि दोनों दवा व्यापारी जोधपुर की फर्म से यह नकली वैक्सीन मंगवाते थे। अौषधि नियंत्रण विभाग के अनुसार, 5200 रुपए में जो वैक्सीन बेची जा रही थी, वो दवा न होकर नमक मिले हुए पानी की तरह था। दोनों फर्म के बिलों के जांच में सामने आया है कि नकली वैक्सीन जिले के कस्बों में संचालित हॉस्पिटलों में भी सप्लाई होती थी।

4 वायल मरीजों को लगा दी, सीज कर दी

औषधि नियंत्रक विभाग ने दिमागी बुखार यानी मेनिनजाइटिस नामक डिजीज के लिए काम आने वाली वैक्सीन जोधपुर से सप्लाई किए जाने का सोमवार को खुलासा किया है। विभाग ने बताया कि शहर के सत्यम मल्टी स्पेशलिटीज हॉस्पिटल में गत दिनों आठ मेनेक्ट्रा वैक्सीन मंगवाई गई थी। इसमें से चार वायल तो मरीजों को लगा भी दी गई। यह वायल कब मंगवाई गई, इसकी जानकारी भी अस्पताल संचालक ने सोमवार शाम तक विभागीय अधिकारियों को उपलब्ध नहीं कराई। इसके चलते अस्पताल में उपलब्ध चार वायल सीज कर दी। बरामद वायल स्नोफी पाश्च्यूर कंपनी द्वारा अगस्त 2017 को मैन्यूफैक्चर की गई और इस पर 8 सितंबर 2019 एक्सपायरी तारीख अंकित है। सत्यम मल्टी स्पेशीलिटी हॉस्पिटल के डॉ. किरण गर्ग ने मामले में कहा कि सीएनए ऑफ स्नोफी वर्धमान मेडिकल जोधपुर से ऑन बिल वैक्सीन मंगवाई गई थी। यदि वहां से नकली आ रही है तो हम इसके बारे में क्या कह सकते हैं।

^ सीकर में छापेमारी कराई है। बेस्ट मेडिकल और मेडि लाइन से नकली वैक्सीन जब्त कर ली है। फिलहाल जांच चल रही है। – अजय फाटक, औषधि नियंत्रक जयपुर

^ नकली वैक्सीन को लेकर शहर में दो जगह कार्रवाई हुई। कितनी वैक्सीन मिली, कब से सप्लाई हो रही, जानकारी टीम ही दे सकती है। -गजानंद औषधि नियंत्रण अधिकारी सीकर