MP में विन 29 का मिशन लेकर इस प्लानिंग के साथ उतरेंगी कांग्रेस

भोपाल: लोकसभा चुनाव को लेकर बिछ चुकी सियासी बिसात में एक दूसरे को मात देने के लिए बीजेपी और कांग्रेस ने अपनी चालें चलना तेज कर दिया है और हर कोई चाहता है कि किसान, गरीब, महिला, युवा और आम जन से जुड़े मुद्दों के सहारे चुनाव में जीत की नैया को पार लगाया जाए। कांग्रेस पार्टी का फोकस भी एमपी की 29 सीटों को भेदने का है। मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव की तरह लोकसभा चुनाव में अपना दबदबा कायम करने के लिए नई रणनीति बनाई जा रही है। जिसको लेकर कांग्रेस मैदान में उतरेगी और मोदी सरकार के साथ साथ बीजेपी की भी घेराबंदी करेगी।

मध्यप्रदेश में कांग्रेस मुख्यमंत्री कमलनाथ के ढ़ाई महिनों के कार्यकाल के साथ साथ उन वादों को लेकर भी मैदान में उतरेगी जो राहुल ने हाल में किए गए है। इनमें बेसिक इनकम का ऐलान, इसके तहत गरीबों को आय की गारंटी देना, ट्रिपल तलाक कानून रद्द करने का वादा,  आदिवासियों की जमीन, महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण, शिक्षा औऱ स्वास्थ्य पर फोकस के साथ साथ युवाओं को लेकर किए गए वादे शामिल होंगें।

लोकसभा चुनाव के दंगल में जीतने के लिए कांग्रेस इन मुद्दों को प्रमुखता से पेश कर सकती है।
  • कृषि संकट
  • किसानों की आत्महत्या
  • बेरोजगारी और आंतरिक सुरक्षा को भी चुनावी मुद्दा बनाया जाएगा।
  • शिक्षा का राष्ट्रीयकरण कर समानता लाना
  • स्वास्थ्य सेवाएं
  • सड़कों का नवीनीकरण
  • परंपरागत व्यावसाय राइट एक्ट लागू करें
  • किसानों को उपज का सही दाम दिलाने के लिए सेंट्रल मंडी की स्थापना
  • पीडीएस सुधारने के लिए डि सेंट्रलाइज्ड व्यवस्था लागू करें
  • रक्षा से जुड़े मामलों में पॉलिटिकल बयानबाज़ी पर पूरी तरह से रोक