दंडाधिकारी से लिखित अनुमति लेने के बाद की फायरिंग

राजगढ़

यासमीन सिद्दकी 

शहर के पुलिस परेड ग्राउंड पर मॉकड्रिल में छात्र दंगाई बनकर पुलिस पर हमला करने पहुंचे। उनसे बचने पहले पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े, फिर भी नहीं माने तो हवाई फायर किया।

परेड ग्राउंड पर मंगलवार सुबह सात बजे कोतवाली सहित कालीपीठ, छापीहेड़ा, खुजनेर और यातायात का बल पहुंचा। जहां कोचिंग में पढ़ने वाले छात्रों को दंगाई बनाया गया। जो अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे, जिन्हें पुलिस द्वारा बनाई गई चार पार्टियों ने पहले समझाया, लेकिन वह मांगों पर अड़े रहे। इस सबसे आगे आंसू गैस पार्टी खड़ी की, जिसके पीछे केन (लाठी) पार्टी, रायफल पार्टी और रिजर्व पार्टी खड़ी की, जहां से पुलिस अधिकारी ने दंडाधिकारी को फोन पर दंगाई के नहीं मानने की बात कही। इस पर दंडाधिकारी ने आंसू गैस के गोले छोड़ने के लिए कहा। इसके बाद भी दंगाई नहीं माने तो पुलिस अधिकारी न लिखित में दंडाधिकारी के सामने अपनी बात रखते हुए लाठी चार्ज व गोली चलाने का आर्डर लिया। इसके बाद पुलिस पार्टी ने दंगाइयों को खदेड़ने लाठी चार्ज किया, नहीं मानने पर हवाई फायर भी किया। करीब घंटेभर के अभ्यास के बाद थाने में पुलिस पार्टियां रवाना हुई है। इस मौके पर एएसपी एनएस सिंह सिसोदिया, सूबेदार योगेंद्र मरावी सहित अन्य पुलिस अधिकारी उपस्थित थे।