आरटीओ नालागढ़ को विजिलेंस टीम ने 10 लाख रुपए रिश्वत देते दबोचा

मीनाक्षी भारद्वाज 

ऊना, । जिला के मैहतपुर कस्बे में स्थित मैहतपुर स्थित प्रवेश द्वार के पास अपने खिलाफ दर्ज मामले की जांच को हल्का करने व आय से अधिक संपत्ति के आरोपों से घिरे नालागढ़ के आरटीओ को 10 लाख रुपए की रिश्वत के साथ विजिलेंस टीम ने दबोचा है। जबकि आरोपित आरटीओ ने हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत ले रखी थी। इसके अलावा वह विजिलेंस टीम की जांच में शामिल भी नहीं हो रहा था।

आरटीओ नालागढ ओमप्रकाश पुरी जिनके ऊपर पिछले कुछ दिनों पहले ही विजिलेंस ऊना ने आरटीओ कार्यालय रिश्वत लेने को लेकर मामला दर्ज किया था। विजिलेंस टीम ऊना ने मामला दर्ज करने के बाद जब आरोपित पर शिंकजा कसना शुरु किया तो उसने विजिलेंस की टीम के साथ केस रफा दफा करने को लेकर रिश्वत की पेश की। मंगलवार को आरटीओ नालागढ़ ओमप्रकाश पुरी मैहतपुर कस्बे के प्रवेश द्वार पर पहुंचा। वहां पर विजिलेंस की टीम को देने के लिए लाए गए दस लाख रुपए बड़ी राशि के साथ ट्रैप करने में सफलता प्राप्त की। आरोपित आरीटीओ बुधवार को ऊना की अदालत में पेश किया जाएगा। इसकी पुष्टि विजिलेंस विभाग ऊना के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सागर चंद्र शर्मा ने की है। जानकारी के अनुसार ऊना के आरटीओ कार्यालय में तैनात आरटीओ मेडिकल अवकाश पर है। उनकी जगह नालागढ़ के आरटीओ ओमप्रकाश पुरी को ऊना कार्यालय का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा हुआ था। उस दौरान ही कार्यालय में काम कराने को लेकर सरेआम रिश्वत लेने के पांच वीडियो वायरल हुए थे। हालांकि उस समय इन वीडियो को लेकर किसी ने भी आगे आकर शिकायत नहीं की थी। लेकिन विजिलेंस विभाग ने अपने स्तर पर इस संबंध में मामला दर्ज करके कार्रवाई शुरु की थी। हालांकि जब विजिलेंस की टीम इस मामले की गहन जांच में जुटी तो ऊना का अतिरिक्त कार्यभार संभालने वाले आरटीओ भूमिगत हो गए। जहां तक आरटीओ ने प्रदेश हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत प्राप्त की थी। इस मामले में विजिलेंस टीम ने ऊना के एक एजेंट को भी जांच के दायरे में आने पर गिरफ्तार करके पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ की थी। बावजूद इसके विजिलेंस टीम ने जब ऊना के बाद नालागढ़ में जाकर इस अधिकारी की जांच को आगे बढ़ाया तो कई तरह के अहम खुलासे हुए। उसके बाद विभागीय टीम आरटीओ की आय से अधिक संपत्ति की जांच करने का मामला की जांच भी शुरु कर दी। इसके उपरांत ही आरटीओ नालागढ़ ओम प्रकाश पुरी ने अपने खिलाफ दर्ज मामले की जांच को हल्का करने तथा उसके विरुद्ध आय से अधिक संपत्ति का मामला की जांच न करने के लिए विजिलेंस टीम को रिश्वत 10 लाख रुपए रिश्वत देने का ऑफर दिया। जिस पर विजिलेंस टीम ने रिवर्स ट्रैप लगाया, 10 लाख रुपए मंगलवार को मैहतपुर में सुबह देना तय हुआ था। मैहतपुर प्रवेश द्वार पर ही स्वतंत्र गवाहों की मौजूदगी में विजिलेंस ऊना की ट्रैप टीम ने इस रिवर्स ट्रैप में आरटीओ ओम प्रकाश पुरी को 10 लाख रुपयों के साथ दबोच लिया। विजिलेंस ने इस अधिकारी के खिलाफ भ्रष्टाचार रोधक एक्ट की धारा 8 और 12 के तहत मामला दर्ज करके गिरफ्तार कर लिया है।