पीएम मोदी का ब्लॉग- कांग्रेस ने ‘विनाश’ को और हमने ‘विकास’ को चुना

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर ब्लॉग का सहारा लेते हुए कांग्रेेस को निशाने पर लिया। उन्होंने प्रेस, वंशवाद, संसद, सरकारी संस्था समेत कई मुद्दों पर कांग्रेस को घेरते हुए कहा कि वह वंश की रक्षा के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं।

PunjabKesari

प्रधानमंत्री ने बुधवार को अपने ब्लॉग में लिखा कि वंशवाद की राजनीति से सबसे अधिक नुकसान संस्थाओं को हुआ है। वंशवाद को बढ़ावा देने वाली पार्टियां कभी भी स्वतंत्र और निर्भीक पत्रकारिता के साथ सहज नहीं रही हैं। कोई आश्चर्य नहीं कि कांग्रेस सरकार द्वारा लाया गया सबसे पहला संवैधानिक संशोधन फ्री स्पीच पर रोक लगाने के लिए ही था। फ्री प्रेस की पहचान यही है कि वो सत्ता को सच का आईना दिखाए, लेकिन उसे अश्लील और असभ्य की पहचान देने की कोशिश की गई।

मोदी ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि यूपीए के ताकतवर मंत्रियों के बेटे के खिलाफ एक ट्वीट भी निर्दोष आदमी को जेल में डाल सकता था। कुछ दिनों पहले ही देश ने उस डर के साये को भी देखा, जब कुछ युवाओं को कर्नाटक में एक कार्यक्रम के दौरान अपनी भावनाओं को व्यक्त करने की वजह से गिरफ्तार कर लिया गया, लेकिन मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि किसी भी तरह की धमकी से जमीनी हकीकत नहीं बदलने वाली है। अगर वे जबरदस्ती अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को रोकने का प्रयास करेंगे, तब भी कांग्रेस को लेकर लोगों की धारणा नहीं।

मोदी ने 2014 के जनादेश को ऐतिहासिक बताते हुए लिखा कि तब भारत के इतिहास में पहली बार किसी गैर वंशवादी पार्टी को पूर्ण बहुमत मिला था। तब आम चुनाव में देशवासियों ने भ्रष्टाचार में डूबी उस सरकार से मुक्ति पाने और एक बेहतर भविष्य के लिए मतदान किया था। जब कोई सरकार ‘फैमिली फर्स्ट’ की बजाए ‘इंडिया फर्स्ट’ की भावना के साथ चलती है तो यह उसके काम में भी दिखाई देता है। यह हमारी सरकार की नीतियों और कामकाज का ही असर है कि बीते 5 वर्षों में, भारत दुनिया की शीर्ष अर्थव्यवस्थाओं में शामिल हो गया है।