PAK ने सीमा पर तैनात किए F16, एयरफोर्स ने मोदी सरकार से मांगे गोला-बारूद और लड़ाकू विमान

पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच पैदा हुई तल्खियां अभी कम नहीं हुई हैं। पाकिस्तान फिर कोई हिमाकत करे इससे पहले भारतीय वायुसेना और मजबूत होना चाहती है। भारतीय वायुसेना ने केंद्र सरकार से तत्काल नए गोला-बारूद, लड़ाकू विमान और मिसाइलें खरीदने को कहा है। बालाकोट में एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तानी F-16 लड़ाकू विमानों ने भारत में घुसने की कोशिश की थी। पाकिस्तानी F-16 को खदेड़ने के लिए भारतीय वायुसेना को मिग-21 को उतारना पड़ा था, जो काफी पुराना है। मिग-21 के क्रैश होने के कारण ही वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान पाकिस्तान की कैद में चले गए थे। वायुसेना ने सरकार से कहा कि हमें भी आधुनिक लड़ाकू विमानों की जरूरत है।

पाकिस्तान ने आतंकी कैंपों को फाटा क्षेत्र से हटाया 
पाकिस्तान ने भारतीय सीमा के आसपास एफ-16 तैनात किया है। इसके अलावा उसने पाक अधिकृत कश्मीर एवं अन्य इलाकों से आतंकी कैंपों को हटाकर फाटा क्षेत्र (खैबर पख्तूनख्वा के स्वायत्ता प्राप्त क्षेत्र) में शिफ्ट कर दिया है। इसके चलते अब ये कैंप भारतीय वायु सेना की पहुंच से दूर होंगे। यह क्षेत्र अफगानिस्तान की सीमा के करीब हैं। इकनॉमिक टाइम्स के मुताबिक पाकिस्तान के फाटा क्षेत्र में फ्लाइंग ऐक्टिविटी रात में भी काफी ज्यादा रहती है, ऐसे में यहां कोई ऑपरेशन करना मुश्किल होगा।

भारत का हाई ऑपरेशनल अलर्ट
पाकिस्तान के हवाई उल्लंघन के बाद भारत ने लगातार हाई ऑपरेशनल अलर्ट बना रखा है। इसके चलते पूरी तरह मिसाइलों से फाइटर जेट्स को ज्यादा उड़ानें भरनी पड़ रही हैं। शीर्ष सरकारी सुत्रों के मुताबिक मिसाइल्स की भी अपनी समय सीमा होती है। कनस्तर में रखे रहने पर इन्हें उम्र के हिसाब से गिना जाता है लेकिन जब युद्ध होता है तो यह देखा जाता है कि कितनी मिसाइलें सही दागी गई हैं इसलिए हमें फिर से स्टॉक भरने की आवश्यकता है। गोला-बारूद में मुख्यत: हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल की आवश्यकता है जिसे गश्त के दौरान पाकिस्तानी एयर फोर्स को काउंटर करने में मदद मिलेगी।

वहीं भारत की तरफ से सभी हवाई यात्राएं प्रारंभ कर दी गई हैं लेकिन पाकिस्तान की तरफ से अभी भी आम नागरिकों के लिए कई हवाई यात्राएं रोक रखी हैं। खबरों के मुताबिक पाकिस्तान के सभी एयरबेस पर भारत को ध्यान में रखकर एफ-16 से अभ्यास किया जा रहा है। पाकिस्तान की तरफ से रात में लड़ाकू विमानों का उड़ान भरना भी लगातार जारी है और उनका एयर नेटवर्क भी अलर्ट पर है। भारत ने भी मिराज 2000 और सुखोई Su-30MKI तैनात किया है ताकि किसी किस्म का नुकसान नहीं उठाना पड़े।