बारिश की मार व कर्जमाफी से परेशान किसान ने खाया जहर

जबलपुर: मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार आने के बाद सबसे ज्यादा चर्चा का विषय किसान कर्जमाफी रहा। भले ही कमलनाथ सरकार ने किसान कर्जमाफी को लेकर 10 दिन के अंदर घोषणाएं की हो लेकिन प्रक्रिया इतनी लम्बी रही कि लोकसभा चुनाव आने के कारण कर्जमाफी अटक गई। इसको लेकर राजनीतिक सियासत भी हुई वहीं एक किसान द्वारा कर्ज माफ न होने और फसल नुकसान से परेशान होकर जहर खाने का मामला सामने आया है।  किसान गंभीर हालत में इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

जानकारी के अनुसार, 45 वर्षीय भूपत न्यू भेड़ाघाट के पास इमलिया गांव का रहने वाला है। उसकी चार एकड़ जमीन बरगी हिनोता के पास है। उसका रोजी रोटी का एकमात्र साधन खेती है। लेकिन बारिश की मार व ओलावृष्टि के कारण उसकी सारी की सारी फसल खराब हो गई। फसल की बर्बादी देख कर उसने खेत में ही जहर पी लिया। उसके पड़ोसी उसे गंभीर हालत में अस्पताल लाए जहां उसका इलाज जारी है।

होश में आने के बाद भूपत ने बताया कि उसके ऊपर दो लाख का कर्ज था पर सरकार की तरफ से उसका कर्जा माफ नहीं हुआ। बीते दिनों हुई भारी बारिश से उसकी चने की सारी की सारी फसल बर्बाद हो गई। सदमे में आकर उसने यह खौफनाक कदम उठाया। डॉक्टरों ने भूपत की हालत में सुधार बताया है।