सरयू नदी में डूबने से चचेरे भाइयों सहित पांच लोगों की मौत

गोरखपुर,  बेलघाट क्षेत्र के बेइली खुर्द गांव के पास बुधवार को सरयू नदी में स्नान कर रहे चचेरे भाइयों सहित पांच लोगों की नदी में डूबने से मौत हो गई। देर शाम नदी के किनारे लावारिस हाल में कपड़े और मोबाइल फोन मिलने पर ग्रामीणों को उनके नदी में डूबने का संदेह हुआ। काफी मशक्कत से उन्होंने पांचों के शव नदी में खोजकर बाहर निकाला।

डूबने वालों में बेइली खुर्द गांव के ही कृष्ण मुरारी शुक्ल के पुत्र सत्यम, मदन मुरारी शुक्ल के पुत्र सौरभ, दिनेश शुक्ल के पुत्र अमन, ध्रुव नारायण शुक्ल के पुत्र नितेश और बेइली खुर्द गांव में ननिहाल आए उरुवा क्षेत्र के परसा तिवारी गांव निवासी सूर्य प्रकाश त्रिपाठी के पुत्र आदर्श शामिल हैं। सत्यम और सौरभ चचेरे भाई हैं।

दोनों गोरखपुर में रहकर क्रमश: आठवीं और बीएससी की पढ़ाई कर रहे थे। आदर्श का उन्हीं के घर ननिहाल है। वह मुंबई में रहकर डाक्टरी की पढ़ाई कर रहा था। नितेश भी गोरखपुर रहकर बीएससी में पढ़ता था। अमन गांव में ही रहता था। इस साल उसने इंटर की परीक्षा दी थी।

सत्यम, सौरभ, और नितेश होली की छुट्टी में बुधवार को सुबह गांव पहुंचे थे। आदर्श होली खेलने के लिए पहले से ननिहाल में ही था। चारों दोपहर में गांव से अमन को साथ लेकर घूमने निकले। इसके बाद से ही उनका पता नहीं चल रहा था। काफी वक्त बीत जाने के बाद भी घर नहीं लौटे तो परिवार के लोगों ने उन्हें खोजना शुरू किया। इसी दौरान गांव के ही एक व्यक्ति ने दोपहर में उन्हें नदी की तरफ जाते हुए देखने की बात कही।

देर शाम परिजन नदी के किनारे पहुंचे तो घाट पर उनके कपड़े और मोबाइल फोन रखे मिले। उनके डूबने का संदेह होने पर ग्रामीणों नदी में उन्हें खोजना शुरू किया तो एक-एक कर पांचों के शव बरामद हुए।

गांव में पसरा मातम
होली से पहले हुई इस घटना से गांव में मातम पसरा हुआ है। होली को लेकर पहले जहां उल्‍लास का माहौल था, वहीं इस घटना के बाद लोगों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल है। होली के मौके पर मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ गोरखपुर आए वाले हैं। ऐसे में इस घटना ने होली के जश्‍न को फीका कर दिया है।